करेंसी ट्रेड

इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है?

इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है?

इंट्राडे ट्रेडिंग क्या होता है ?

इंट्राडे ट्रेडिंग हम एक दिन में ही कर सकते है। इंट्राडे ट्रेडिंग में हमे एक दिन में ही लोस्स और प्रॉफिट हो जाता है। भारत में शेयर मार्केट मंडे से लेकर फ्राइडे तक सुबह 9 :15 से लेकर शाम के 3 :30 खुलता है। अगर आप इंट्राडे ट्रेडिंग करना चाहते है तो आप को इसी समय में शेयर को खरीदना और बेचना होगा। ज्यादातर निवेशक दो कारणों की बजह से इंट्राडे ट्रेडिंग करते है। पहला मार्जिन और दूसरा है न्यूज़।

मार्जिन क्या होता है

इंट्राडे में ब्रोकर अपने निवेशको को मार्जिन देते है। मार्जिन का मतलब है ब्रोकर अपने निवेशकों को निवेश करने के लिए पैसे उधार देते है। अगर आप के पास कम पैसे है और आप ज्यादा शेयर खरीदना चाहते है तो आप का ब्रोकर आप को मार्जिन देता है जिस से आप कोई भी कपनी के शेयर खरीद सकते है और जब आप के पास ज्यादा पैसे होंगे तो आप ज्यादा शेयर खरीद पाएंगे और अधिक लाभ कमा सकते है।

न्यूज का बहुत प्रभाव

जब भी कोई कंपनी की न्यूज आती है तो शेयर मार्किट में उस न्यूज का बहुत प्रभाव होता है शेयरों के प्राइस ऊपर निचे होने लग जाते है। जिस का निवेश फायदा उठा कर एक दिन में ही लाभ कमा लेते है। इन्ही दो करने की वजह से निवेशक इंट्राडे ट्रेडिंग करते है।

इंट्राडे ट्रेडिंग दो प्रकार की होती है।

  • लॉन्ग इंट्राडे ट्रेडिंग
  • शोर्ट इंट्राडे ट्रेडिंग

1.लॉन्ग इंट्राडे ट्रेडिंग

लॉन्ग इंट्राडे ट्रेडिंग हम को जब लगता है कि कोई कंपनी के शेयर का प्राइस बढ़ने वाला है तो हम अपने ब्रोकर से मार्जिन ले कर अपने ब्रोकर की प्लेटफार्म पर जा कर उस कंपनी के शेयर को खरीद कर इंट्राडे सिलेक्ट करेंगे जिस से हमारे ऑडर मार्जिन अप्लाई हो जायेगा। फिर हम उस में क्वांटिटी भर देंगे। इस से हमारा ऑडर अप्लाई हो जायेगा। आप इंट्राडे ट्रेडिंग कर रहे है तो आप को उसी दिन ही शेयर को बेचना होगा। चाहे उस में आप का प्रॉफिट हो जा फिर लोस्स।

2.शोर्ट इंट्राडे ट्रेडिंग

शोर्ट इंट्राडे ट्रेडिंग में जब हम को लगता है कि किसी कंपनी के शेयर का प्राइस गिरने वाला है तो इस में हमारा ब्रोकर में कुछ शेयर उधार पर देता है जिसे हम अपने ब्रोकर के प्लेटफर में जा कर उस कंपनी के शेयर को बेच देते है उस समय उस शेयर का प्राइस 100 रुपए है तो आप उसे बेच देते है उस शेयर का प्राइस 10 रुपए ज्यादा गिर जाये तो आप उस कंपनी के शेयर खरीद कर अपने ब्रोकर को वापिस कर देंगे जो आप ने उस से उधार लिए थे। इस में आप ने ज्यादा प्राइस पर शेयर को बेच कर उसे कम प्राइस में खरीद लिए इस से आप को हर एक शेयर पर 10 रुपए का प्रॉफिट हुआ।

अगर इस में शेयर का प्राइस 10 रुपए ऊपर जाता तो इस में आप को हर एक शेयर पर 10 रुपए का नुकसान होता।

इंट्राडे ट्रेडिंग पर हमे कोन से नुकसान होते है

ब्रोकरेज

इंट्राडे ट्रेडिंग में हमे चाहे प्रॉफिट हो चाहे हमारा नुकसान हो हमारा ब्रोकर हमारे हर एक ऑडर पर चार्ज लेता है। उस के पैसे हमारे ट्रेडिंग अकाउंट में से कट जाते है। इंट्राडे में हम उस दिन ही शेयर खरीदते है और उस दिन ही बेचते है जिस के कारण हमारा ब्रोकर हमारे हर एक ऑडर पर चार्ज लेता है।

एक दिन का ही समय मिलना

इंट्राडे ट्रेडिंग में हम ने जिस दिन शेयर खरीदते होते है हमे उसे उसी दिन ही बेचना होता है। इस लिए हमारे पास शेयर खरीदने या बेचने के लिए थोड़ा समय ही होता है। अगर इस में हमारा लोस्स हो रहा हो फिर भी हमे शेयर को उसी दिन ही खरीदना या बेचना होता है।

इंट्राडे ट्रेडिंग में हमे एक दिन में ही शेयर खरीदने और बेचने होते है जिस के कारण इस में बहुत ज्यादा रिस्क होता है। इंट्राडे ट्रेडिंग से हमे ज्यादा फायदा और ज्यादा नुकसान दोनों ही हो सकते है। इस लिए अगर आप इंट्राडे ट्रेडिंग करना चाहते है तो आप को इंट्राडे ट्रेडिंग को अच्छी तरह से समझना होगा और इंट्राडे ट्रेडिंग में होने के बारे में भी पता होना चाहिए। तभी आप ट्रेडिंग में सफल हो सकते है।

आज हम ने इस आर्टिकल में जाना कि इंट्राडे ट्रेडिंग क्या होती है ,मार्जिन क्या होता है ,इंट्राडे ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है और इंट्राडे ट्रेडिंग से हमे क्या क्या नुकसान हो सकते है। मुझे उम्मीद है कि मेरे इस आर्टिकल से आप को इंट्राडे ट्रेडिंग के बारे में अच्छी तरह से समझ आ गया होगा। अगर आप को हमारा आर्टिकल पसंद आया है तो कमेंट करके जरूर बताए।

Intraday Trading kaise kare in Hindi

दोस्तों, बात शेअर मार्केट की हो और Intraday कि चर्चा ना हो ऐसा हो सकता है क्या? इंट्राडे ट्रेडिंग दिखने में जितनी आसान दिखती है उतनी ही पेचीदा होती हैं.Intraday Trading Kaise kare इसीलिए आपके पैसे को सेफ रखने के लिये और उसे बढ़ाने के लिये हम आपके लिये Intraday Trading के नुस्खे बतायेंगे जिसे अगर आप समझते हैं तो बड़े आसानी से और विचारपुर्वक आप इंट्राडे ट्रेडिंग कर सकते हों.
इंट्राडे ट्रेडिंग वहीं कर सकता है जो शेअर मार्कट का गणित समजता हैैं.आपने अभी अभी शेअर मार्केट पे आई सोनी कि वेबसेरिज देखी ही होगी जिसका नाम था स्कैम 1992 जो की भारत के सबसे बढे स्कैंम हर्षित मेहता पर बनी थी इसमें एक डायलॉग है जो कि देखा जाये तो इसमें बहुत सच्चाई हैं वह डाॅयलाॅग यह था कि शेअर मार्केट इतना बढ़ कुआं है कि हर एक कि प्यास बुझा सकता हैं, हालाकी यह सच भी लेकिन बिना नाॅलेज के यह आपको डुबा भी सकती हैं.

Intraday Trading Tricks & Tips in Hindi 2021

इससे पहले हमने आपको शेअर मार्केट के आधारित बहुत से विषय थे जिनके बारे में पुरे विस्तार से बताया है यह भी आप पढ़ सकते हैं.

इंट्रा-डे ट्रेडिंग क्या होती हैं?

अगर हम किसी Stock को आज के दिन ही खरिदते है और आज के दिन हि बेचते हैं तो इस इंट्रा-डे कहते हैं.
अगर आपने उसे बेचा नहीं तो भी ऑटोमैटिक वह स्केअर अप यानी एक्सिट हो जाता हैं जैसे ही ट्रेंडिंग का समय खत्म होता हैं.
इंट्रा-डे में आपको कम पैसों में ज्यादा शेअर खरिदने मिलते हैं यानी ज्यादा नफा और इसका उल्टा ज्यादा रिस्क भी, कुछ भी हो जाये आपको नुकसान हो या फायदा वह दिन के आखिर में पता लग ही जायेंगा.

अगर आप इंट्राडे करते हैं तो हम कुछ टिप्स और ट्रिक्स आपको बताने जा रहे हैं.

इंट्रा-डे ट्रेडिंग करने के 7 टिप्स और ट्रिक्स:

1. ओवर ट्रेडिंग से दुर रहें

यह सबसे महत्वपूर्ण बातों में से एक बात है अगर आप नये नये स्टाॅक मार्केट में आहे हो तो क्योंकि ज्यादातर लोग इसी कारण नुकसान में रहते हैं.
ओवर ट्रेडिंग मतलब जादा ट्रेंड लेना और अपने रिस्क को बढाना.
जब हम इंट्रा-डे करना चाहते हैं तो पहले ही यह फिक्स करले कि आप कितने ट्रेंड ज्यादा से ज्यादा लेंगे इससे होगा ये कि आपका कॅपिटल बच जायेगा और आप अगले दिन ट्रेंड ले पायेंगे.
ज्यादातर लोग अगर थोड़े लाॅस में जाते हैं तो उसको रिकव्हर करने के लिये बादमें फिर बिना सोचे समझे ट्रेंड में घुस जाते हैं और ज्यादा नुकसान कर बैठते हैं.
एक बाद हमेशा याद रखिये जिस दिन मार्केट आपके ऍनालायसिस में मेल खायेगा तब आपको प्रोफिट होना तय है लेकिन जबरदस्ती ट्रेंड ना लें इससे गलती होने कि जादा चान्सेस हो जाते हैं.

2. चुनिंदा स्टेटर्जी पर काम करें
इंट्रा-डे में यह छोटी छोटी बातें ही हिरो या जेरो बना देती हैं. बहुत से लोग ज्यादातर नये नये मार्केट में पैर रखनेवाले किसी स्टॅटर्जी को सुनते हैं या देखते हैं और उसी पे ट्रेंड करना चालु कर देते हैं थोड़े दिन उससे प्रोफिट भी मिलता हैं लेकिन एक दिन ऐसा आता है की यह काम नहीं करता तो उसे छोड़कर दुसरे स्टेटर्जी को ढुढने लग जाते हैंं, और वह भी किसी दिन नहीं चलती तो और कोई तिसरी स्टॅटर्जी,ऐसे में आपको लाॅस होना तय हैं क्योंकी कोई भी कितनी भी अच्छी स्टॅटर्जी हो वह १०० प्रतिशत कभी नहीं वर्क करेगी इसलिये चुनिंदा स्टेटर्जी पर ही काम करें भले एक दो दिन के लिये नुकसान हो लेकिन महिने के आखिर में या साल के एंड में आप उसे सही तरिके से फोलो करते हो तो आप फायदे में ही रहोगें.

3. स्टाॅपलाॅस लगाने कि आदत डालें

कितना भी आपको Confidence हो कि शेअर प्राइस आपके डायरेक्शन में जायेंगी लेकिन स्टाॅपलाॅस लगाना ना भुले क्योंकी किसी एक न्युज से या ज्यादा सेलर आने से कई बार एक ही केंडल में प्राइस गलत डायरेक्शन में जाता है इससे हमारा ज्यादा नुकसान हो सकता हैं इसलिये स्टाॅपलाॅस लगाने कि आदत हमेशा डाले.
टार्गेट सेट करना इतना महत्वपूर्ण नहीं है लेकिन एक ट्रेंड में हमारा ज्यादा से ज्यादा कितना नुक्सान हम सह सकते उतना ही स्टाॅपलास आपका होना चाहिये और उसके हिसाब से आपको ट्रेंड में उतरना चाहियें.
अगर रिस्क को सही से हम मैनेज करना हम सिख गये तो‌ नुकसान होना नामुमकिन हैं.

4. ट्रेंड लेने से पहले एनालायसिस करें ट्रेंड लेने के बाद नहीं
जितना रिसर्च करना है वह ट्रेंड लेने से पहले करें बाद में या तो आपका स्टाॅपलाॅस हिट होना चाहिये या तो टार्गेट , कई लोग ट्रेंड में इंट्री लेने के बाद उसकी एनालिसिस करने बैठ जाते हैं और वह स्टाॅक प्राॅफिट भी दे रहा होगा तो भी आखिरी तक हम गलत स्टॅटर्जी से बाहर निकल जाते हैं और नुकसान कर बैठते हैं , एक बार अगर ट्रेंड ले लेते हैं तो एक तो स्टाॅपलाॅस हिट करना चाहिये या तो आपका टार्गेट बिच में एनालिसिस करना बैठना गलत बात हैं.
अगर आप इमोशन नहीं कंट्रोल कर सकते तो कुछ भी नहीं प्रोफिट क्या पायेंगे.

5. इंट्रा-डे में टेक्निकल एनालाइसेस कि समझ होना जरुरी हैं

इंट्रा-डे में फंडामेंटल एनालासिस कि ज्यादा जरुरत नहीं होती लेकिन टेक्निकल एनालिसिस कि इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है? जानकारी होना बहुत जरुरी होती हैं. इंट्राडे में हम स्टाॅक को ज्यादा देर नहीं लेके करते इसलियें Fundamental Analysis ज्यादा मायने नहीं रखते लेकिन technical Analysis कि ज्यादा नाॅलेज होनी जरुरी है अगर आप Intraday Trading करना अथवा सिखना चाहतें हैं तो.

6. कम स्टाॅक को रखें वाॅचलिस्ट में
अगर आप सभी स्टाॅक की एनालायसिस करने बैठ जायेंगे तो यह नामुमकिन हैं की आपको फायदा होगा, लेकिन अगर आप कुछ 8 से 10 स्टाॅक पर हि ज्यादा ध्यान देकर उनमें ही ट्रेंड करने की सोचेंगे तो सही होगा क्योंकि अगर आप ज्यादा share पर ध्यान देंगे तो आप कन्फुज हो जायेंगे इसलिये जितना हो सके कम स्टाॅक्स को चुने इससे आप लक्ष ज्यादा देकर सही ट्रेंड लेनी कि प्रोबेबिलिटी को बढ़ा सकेंगे.
अगर आप चुनिंदा ही स्टाॅक में ज्यादा समय ट्रेंड करते हो तो उसकी Moment का पता आपको लग जायेगा कि यह स्टाॅक कितना Volatile हैं कितना Movement दिनभर दे सकता है यह आपको बाद में Predict करना आसान जायेगा.

7. पेड़ सब्सक्रिप्शन और न्युज के चक्करों में ना पड़ें

नये लोग जो भी इंट्रा-डे करने आ जाते हैं वह ज्यादा प्रोफिट कमानें के चक्कर में आ जाते हैं जो कि शुरुवात में न्युज देखकर या पेंड सब्सक्रिप्शन को पैसे देकर आ जाते हैं लेकिन सच कहे तो जबतक आप खुद मार्केट को पुरी तरह से ना समझते हो तब तक आप इसमे से किसी चक्कर में ना पड़ें क्योंकी पहले पहले देखने में यह काफी आसान लगता है लेकिन हम जब असली में इनके बताते ट्रेंड लेते हैं तो कई बार शुरवात में प्रोफिट होता भी है लेकिन ज्यादातर बार हम हमारा कॅपिटल भी बचा नहीं पाते.
ऐसा नहीं है कि सभी पेड़ सब्सक्रिप्शन और न्युज गलत होती है लेकिन जब-तब आपको शेअर मार्केट कि नाॅलेज ना हो तब तब इंट्रा-डे के चक्कर में ना ही पड़ना बेहतर हैं.

आपने क्या सीखा:

इस आर्टिकल में हमने आज सीखा कि Intraday Trading Kaise Kare उसके इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है? टिप्स, इंट्रा-डे ट्रेंडिंग के लिये ऐसे कौन कौन से टिप्स और ट्रिक्स है और यह करते वक्त हमें कौन कौन सी बातों का ध्यान रखना होता है यह भी सभी देखना होगा तभी जाके हम इंट्रा-डे में प्रोफिट कर सकते हैं नहीं तो १०० में से ९५ प्रतिशत लोग नुकसान ही करते हैं अगर हम इंट्रा-डे कि बात करें.

Stocks to Buy Today: इंट्राडे में बेहतरीन कमाई के लिए तैयार है 20 शेयरों की लिस्ट, मिल सकता है दमदार रिटर्न

Stocks to Buy Today: इंट्राडे में कमाई के लिए अगर आप कुछ ऐसे शेयरों की तलाश कर रहे हैं, जहां पैसा लगाया जा सकता है तो आज की लिस्ट तैयार है.

Stocks to Buy Today: शेयर बाजार से आप रोज पैसा बना सकते हैं. बाजार में इंट्राडे ट्रेडिंग होती है, जहां एक ही दिन शेयर खरीदे और बेचे जाते हैं. रोज की तरह आज भी कुछ शेयर खबरों या किसी नए सेंटीमेंट के चलते जोरदार तेजी दिखा सकते हैं. अगर आप कुछ ऐसे ही स्टॉक की तलाश में हैं तो पैसे तैयार रखें, आज की लिस्ट तैयार है. इस लिस्ट KIRLOSKAR FERROUS, CHOLA INVEST, IEX 240, NIIT LTD, MHRIL, ABBOTT INDIA, SOBHA, JAYSHREE TEA, INDIAN BANK, GRINDWELL NORTON,Brigade Ent, Havells India, Canfin Homes, Axis Bank, NTPC, Asian Paints, Dr Reddy, Divis Lab और Hindustan Zinc शामिल हैं. आज किन स्‍टॉक में आपको पैसा लगाना चाहिए, इसके लिए जी बिजनेस (Zee Business) अपने Traders Diary प्रोग्राम में निवेशकों के लिए एक्शन वाले शेयर्स लेकर आया है. जी बिजनेस की रिसर्च टीम के आशीष और कुशल ने आपके लिए ऐसे ही कुछ स्टॉक्स चुनें हैं.

यहां देखें वीडियो

आशीष चतुर्वेदी के शेयर

CASH KA STOCK
BUY KIRLOSKAR FERROUS TARGET 260 SL 235

FUTURES
BUY CHOLA INVEST TARGET 715 SL 683

OPTIONS
BUY IEX 240 CE TARGET 17 SL 8.50

TECHNO
BUY NIIT LTD TARGET 720 SL 600

FUNDA
BUY MHRIL TARGET 310 DURATION 6 MONTHS

IPL STOCK
BUY ABBOTT INDIA TARGET 24000 DRATION 12 MONTHS

STOCK IN NEWS
BUY SOBHA TARGET 730 SL 700

BUY JAYSHREE TEA TARGET 125 SL 113

BUY INDIAN BANK TARGET 175 SL 166

BUY GRINDWELL NORTON 1995 SL 1875

MY BEST
BUY ABBOTT INDIA TARGET 24000 DRATION 12 MONTHS

कुशल गुप्ता के शेयर

Cash
Brigade Ent - 520, sl - 498

FTR
Havells India - Buy - 1300, sl - 1240

OPTN
Canfin Homes 670 [email protected] - Buy - 50, SL - 20

Techno
Axis Bank - Buy - 815, SL - 782

Funda
NTPC - Buy - 200, Duration - 1 year

IPL
Asian Paints - Buy - 3800, Duration - 1 year

News
Dr Reddy इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है? - Buy - 4440, sl - 4280

Mychoice
Divis Lab - Buy - 4600, sl - 4430
Hindustan Zinc - Buy - 347, sl - 332

Intraday Trading क्या है Intraday Trading Start कैसे करे ? 2021

हेलो दोस्तों आज मैं आपको बताऊंगा की Intraday Trading In Hindi क्या है Intraday Trading से हम पैसे कैसे कमा सकते हैं इंट्राडे ट्रेडिंग में स्टोक्स का सिलेक्शन कैसे करें या फिर Intraday Trading strategies कैसे बनाएं ये कुछ ऐसे सवाल है

जो हर एक इन्वेस्टर के मन में जरूर एक एक ना एक बार आता है क्योंकि हर कोई यह जरूर जानना चाहता है कि वह अपनी एक नई इनकम सोर्स कैसे जनरेट करें

तो आइए हम बात करते हैं Intraday Trading In Hindi बारे में यह एक नए इनकम सोर्स का भी जरिया हो सकता है यदि आप सावधानी और सतर्कता से और अपनी भावनाओं पर धैर्य बनाकर इंट्राडे ट्रेडिंग करते हैं तो

लॉकडाउन ने बहुत से लोग को शेयर मार्केट और इंट्राडे ट्रेडिंग की तरफ आकर्षित किया है क्योंकि हर कोई आजकल अपनी एक नई Income Source बनाना चाहता है और Intraday Trading करके आप कैसे पैसे कमा सकते हैं या फिर एक सफल ट्रेडर कैसे बन सकते हैं इसके बारे में पूरी जानकारी इस ब्लॉग पोस्ट के जरिए मैं आपको देना चाहता हूं तो चलिए सबसे पहले जानते है की Intraday Trading क्या है।

Table of Contents

Intraday trading क्या हैं

Intraday Trading में आप मार्केट टाइम के अंदर ही शेर को खरीदते या बेचते हैं या फिर बेचते और खरीदते है इसका मतलब यह है कि आपको शेयर को 9:15 से 3:30 के बीच में ही बेचना और खरीदना होता है।

इंट्राडे ट्रेडिंग में 9:15 से 9:30 के बीच में ही शेयर को बेचना या खरीदना होता है क्योंकि जब मार्केट बंद हो जाता है तो मार्केट को POSITION को पूरी तरह से NILL दिखाना होता है ताकि मार्केट बंद होने के बाद कोई भी Trade or Transaction बाकी ना रहे।

Intraday Trading जो कि देखने में बहुत ही आसान लगती है लेकिन इसका कड़वा सच यह है कि सिर्फ 10% लोग ही इंट्राडे ट्रेडिंग से पैसे बना पाते हैं और वह भी regular income के तौर पर नहीं तो बाकी 90% लोग अक्सर लालच में आकर Intraday Trading के माध्यम से शेयर बाजार में अपने पैसों को गंवा बैठते हैं कड़वा है लेकिन 101% सच है।

Advantages of intraday trading (इंट्राडे ट्रेडिंग के फायदे)

Advantages of intraday trading in hindi या intraday trading के कौन-कौन से फायदे हैं जो ज्यादातर लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करते हैं इंट्राडे में ऐसी खूबियां है जो आम निवेशकों को इंट्राडे ट्रेडिंग करने के लिए इच्छुक बनाती हैं जैसे कि

1.DAILY INCOME :- इंट्राडे ट्रेडिंग के द्वारा आप अपनी लगभग daily income भी बना सकते हैं मेरा कहने का मतलब यह है कि भले ही आप एक या 2 दिन घाटे में जा सकते हैं लेकिन अपनी पूरी कोशिश रखनी है कि आप ज्यादा से ज्यादा दिन मुनाफे में रहे तभी आप daily income मना पाएंगे। इंट्राडे ट्रेडिंग से लोग लगभग 1 घंटे में अपनी रोजमर्रा की जरूरतों को पूरा करने जितना पैसा बना लेते हैं।

2.NO BOSS :- इंट्राडे ट्रेडिंग का दूसरा फायदा यह होता है कि आपका कोई BOSS नहीं होता जो आपको दबाव बनाए| मतलब आप अपनी इच्छा के अनुसार जीवन जीते हैं आपको किसी के भी ORDER सुनने की आवश्यकता नहीं होती है आपको सिर्फ मार्केट को समझने की आवश्यकता।

3.NO PLACE RESTRICTION :- यदि आप इंट्राडे ट्रेडिंग करते हैं तो आपको यह पता होगा कि अब दुनिया के किसी भी कोने में बैठ कर आराम से ट्रेडिंग कर सकते हैं बस आपको एक मोबाइल या लैपटॉप और एक अच्छा इंटरनेट नेटवर्क चाहिए होगा जिसकी वजह से आप दुनिया में कहीं पर किसी भी तरह बैठ कर पैसा बना सकते हैं।

Intraday Trading के कुछ और भी फायदे हैं जो कि मार्केट से से संबंध रखते हैं जैसे कि

1. Intraday Trading में आप शेयर की PRICE बढ़ने पर अर्थात BULL MARKET और शेयर की PRICE घटने अर्थात BEAR MARKET दोनों ही तरह की MARKET FLUCTUATIONS मैं पैसे बना सकते हैं या TRADE कर सकते हैं।

2. Intraday Trading में ब्रोकर आपको 20 गुना तक का MARGIN भी देता है जिससे कि आप कम CAPITAL लेकर भी पैसा कमा सकते हैं।

3. क्योंकि इंट्राडे ट्रेडिंग के दौरान ही TRADE खत्म हो जाती है जिससे कि आपको मार्केट बंद होने के बाद उस शहर के बढ़ने या घटने से ना तो कोई डर रहता है और ना ही कोई प्रसन्नता या चिंता।

DISADVANTAGES OF INTRADAY TRADING ( इंट्राडे ट्रेडिंग के नुकसान)

DISADVANTAGES OF INTRADAY TRADING IN HINDI इंट्राडे ट्रेडिंग में आम व्यक्ति को या फिर आम निवेशक को उसके पैसों को खोने के लिए बहुत ही मुख्य रूप से जिम्मेदार है जैसे कि

1. LOSS:-इंट्राडे ट्रेडिंग में LOSS होने के बहुत से कारण होते हैं अगर आप इन कारणों पर ध्यान नहीं देंगे और उन गलतियों को नहीं सुधरेंगे तो आप भी शायद उन 90% लोगों में से एक होंगे क्योंकि यही सच है।

2.ADDICTION:- इंट्राडे ट्रेडिंग का सबसे बड़ा नुकसान यह होता है कि हम और आप जैसे लोगों को इसकी आदत लग जाती है जो की बहुत ही घातक है क्योंकि हर कोई अगर प्रॉफिट होता है और ज्यादा प्रॉफिट बनाने की सोचता है, और अगर LOSS होता है तो उस LOSS को cover करने की सोचता है जिससे कि वह कई बार हद से ज्यादा हतोत्साहित भी हो जाते हैं।

3.HEALTH ISSUE:-अगर आप पूरा दिन अपने COMPUTER SCREEN के सामने बैठे रहते हैं और मार्केट को UP OR DOWN देखते रहते हैं तो यह आपकी health पर बहुत ही घटिया प्रभाव डालता है जिससे कि आप depression ,stress और tension के मरीज बन जाते हो।

Intraday Trading में loss होने के कई मुख्य कारण हो सकते हैं

1.No Risk Management:- इंट्राडे ट्रेडिंग बंद होने का सबसे मुख्य कारण हो सकता है कि आपका गलत risk management plan जिससे कि आप ज्यादा प्रॉफिट बनाने की चाह में risk पर risk लेते रहते हैं और अपनी पूंजी को भी डूबा बैठते हैं।

2.No Money management:- दूसरा कारण हो सकता है कि इंट्राडे ट्रेडिंग करने से पहले आप अपने पैसों का अच्छी तरह से मैनेजमेंट नहीं कर पाते हैं कि आपको आज कितने पैसों से कितने ट्रेड खरीदने हैं और कितने क्वांटिटी पर ट्रेड करना है| जिससे कि आप अपने ज्यादा से ज्यादा पैसों को कई बार अत्यधिक रिस्क पर लगा बैठते हैं और खो बैठते हैं।

3. Sightless trading:- जब आप कुछ बिना सोचे समझे मार्केट में रेड करते हैं तो आप मार्केट में ट्रेड करने नहीं जा रहे हैं आप मार्केट में सट्टा लगाने जा रहे हैं जो की आंख बंद करके किया जाता है जिसमें आपका हारना लगभग तय होता है| इसलिए अपने पैसों को सुरक्षित करने के लिए आपको मार्केट के trend के बारे में और basics के बारे में जानकारी ले लेनी चाहिए।

4. जब आप मार्केट में किसी के द्वारा दी गई TIPS या किसी के द्वारा सुझाए गए स्टॉक्स या फिर गलत TRADE NEWS पर Trade करते हैं इस मामले में आपके पैसों का जोखिम से निकल पाना या फिर डूबना 100% तय है।

Mistakes In intraday Trading

1 Intraday Trading में पहली सबसे बड़ी गलती जो कि हम अक्सर ट्रेडिंग करते वक्त करते हैं वह होती किसी भी तरह के SYSTEM OR RULE या STRATEGIES को FOLLOW ना करना और अपने मनमाने तरीके या ढंग से स्टॉक मार्केट में ट्रेडिंग करते रहना| लोगों को यह क्यों नहीं समझ आता कि बिना STRATEGIES के स्टॉक मार्केट में पैसा नहीं बनाया जा सकता।

2. Intraday Trading करने के लिए एक अच्छे MINDSET का होना बहुत जरूरी होता है यदि आप कल के हुए लोग को कवर करने के लिए आज PRESSURE के साथ ट्रेडिंग करते हैं या फिर खराब MOOD के साथ ट्रेडिंग करते हैं तो यह आपको ट्रेडिंग में LOSS का सामना करा सकता है जिससे कि आप भविष्य में पैसों को खोकर दोबारा शेयर बाजार की तरफ नहीं देखते हैं जो कि बहुत ही गलत है।

3 तीसरे सबसे बड़ी गलती जो हम किसी ट्रेडिंग के दौरान करते हैं वो यह होती है कि हम किसी की TIPS OR ADVISE के according trade करते हैं और आपको तो पता ही होगा कि बिना जानकारी के या फिर बिना मेहनत के मिलने वाली टिप्स आप को भारी नुकसान पहुंचा सकती हैं और शायद पहुंचाया भी होगा।

What is Intraday Trading in Hindi | इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है

Intraday_Trading_kya_hai_in_hindi

दोस्तों यदि आप इंट्राडे ट्रेडिंग करना चाहते हैं और शेयर मार्केट से पैसा कमाना चाहते हैं, लेकिन आप intraday trading के बारे में कुछ भी नहीं जानते तो आप एक सही ब्लॉग पर आए हैं. क्योंकि आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से बताने जा रहे हैं की इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करते हैं. इंट्राडे ट्रेडिंग करते समय हमें किन बातों का ध्यान रखना चाहिए.

Table of Contents

इंट्राडे ट्रेडिंग का क्या मतलब है (Intraday Trading Meaning in Hindi)

इंट्राडे ट्रेडिंग में एक ही दिन के अंदर स्टॉक को खरीदना और बेचना होता है. यहां पर कोई भी स्टॉक को खरीदने के लिए स्टॉक के इंडेक्स को देखना होता है. क्योंकि एक अच्छा मुनाफा कमाने के लिए स्टॉक का उतार–चढ़ाव किस प्रकार से चल रहा है. उस स्टॉक पर नजर बनाए रखना होता है।

अगर आप intraday trading करना चाहते हैं. यह फिर शेयर मार्केट से कोई भी शेयर खरीदना चाहते हैं, तो सबसे पहले आप के पास एक ट्रेडिंग अकाउंट और डिमैट अकाउंट होना चाहिए. अब आपके मन में सवाल उठ रहा होगा कि अकाउंट कैस open कराए.

डिमैट और ट्रेडिंग अकाउंट कैसे खुलवाए (How to open Demat and Trading Account)

मार्केट में कई ऐसे ब्रोकर है जहां पर आप घर बैठे ऑनलाइन के माध्यम से अपना डिमैट और ट्रेडिंग अकाउंट open करा सकते हैं। उदहारण के लिए आपको कुछ ब्रोकर के नाम बता दें AngelOne, Zerodha, Groww, Dhan जैसे कई अन्न ब्रोकर भी हैं. इन सभी ब्रोकर के Android और iOS App भी स्टोर पर मौजूद हैं. अकाउंट open कराने के बाद आप शेयर मार्केट में शेयर को खरीद या बेच सकते हैं.

जब आप एक दिन के अंदर ही शेयर को खरीद कर बेच देते हैं, तो उसे Intraday Trading कहते हैं. इंट्राडे ट्रेडिंग के कुछ फायदे और नुकसान भी हैं, तो चलिए जान लेते हैं. क्योंकि इन सभी बातों को जानने के बाद हमें इंट्राडे ट्रेडिंग अच्छे से समझ आ जायेगा.

इंट्राडे ट्रेडिंग में Margin मिलता है मार्जिन का मतलब है कि जो शेयर 500 rupee का है वो हमें 50 rupee में मिलता है.

इंट्राडे ट्रेडिंग के फायदे और नुकसान Advantage and disadvantage of Intraday Trading

इंट्राडे ट्रेडिंग के फायदे (Advantage of Intraday Trading) :

  • इंट्राडे ट्रेडिंग में आप एक दिन के अंदर पैसे कमा सकते हैं.
  • इंट्राडे ट्रेडिंग करने के लिए अधिक पैसे की आवश्यकता नहीं होती.
  • इंट्राडे ट्रेडिंग करने के लिए टेक्निकल एनालिसिस या फंडामेंटल एनालिसिस की ज्यादा आवश्यकता नहीं होती.
  • इंट्राडे ट्रेडिंग करने के लिए कोई डिग्री की आवश्यकता नहीं है.
  • इंट्राडे ट्रेडिंग में आपका प्रॉफिट हो या लॉस तुरंत पता चल जाता है. इसके लिए आपको ज्यादा इंतजार करने की जरूरत नहीं होती.
  • इंट्राडे ट्रेडिंग आप अपने जॉब या फिर बिजनेस के साथ पार्ट टाइम में कर सकते हैं.
  • इंट्राडे ट्रेडिंग कर के एक अच्छा इनकम बना सकते हैं.

इंट्राडे ट्रेडिंग के नुकसान (Disadvantage of Intraday Trading) :

  • इंट्राडे ट्रेडिंग में यदि स्टॉप लॉस का प्रयोग नहीं करते तो भारी नुकसान हो सकता है.
  • इंट्राडे में यदि जुआ और सट्टा समझ कर पैसे लगाते हैं, तो आपके पैसे डूब जाएंगे.
  • इंट्राडे ट्रेडिंग में पैसे कमाने के लिए धैर्य बनाए रखना बहुत ही अनिवार्य है. क्योंकि जल्दबाजी में शेयर को खरीदना और बेचना हमेशा नुकसान ही होता है.
  • इंट्राडे ट्रेडिंग में जरा सी चूक पर आपका कैपिटल डूब भी सकता है.
  • इंट्राडे ट्रेडिंग में अधिकांश ट्रेडर ज्यादा कमाने के चक्कर में मुनाफा होते हुए भी अपना नुकसान कर लेते हैं.
  • इंट्राडे में बहुत ही कम समय में आपको फैसले लेने पड़ते हैं. क्योंकि छोटी सी चूक पर आपको आर्थिक नुकसान भी हो सकता है.

इंट्राडे ट्रेडिंग करने के लिए कुछ ध्यान देने योग्य बातें :

  • इंट्राडे ट्रेडिंग करने के लिए Patience जरूर रखें.
  • इंट्राडे ट्रेडिंग करने के लिए Indicators का प्रयोग करें.
  • इंट्राडे ट्रेडिंग करने के लिए Risk Management को पढ़ें
  • इंट्राडे ट्रेडिंग करने के लिए कभी भी अपना पूरा कैपिटल ना लगाएं.
  • शेयर मार्केट से जुड़े अपडेट लेते रहें.
  • लालच पर अपने नियंत्रित करें.

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए कुछ टिप्स (Intraday Trading Tips in Hindi)

इंट्राडे ट्रेडिंग में शेयर को जिस दिन खरीदते हैं, उसी दिन शेयर को बेचना भी होता हैं. मान इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है? लीजिए शेयर बाजार खुलने पर अपने कोई शेयर खरीदा कुछ समय बाद देखा कि आपको शेयर में मुनाफा मिल रहा है. लेकिन आपने शेयर को बेचा नहीं ऐसे में शेयर बाजार बंद होते ही अपने आप शेयर चाहे मुनाफे की ओर या फिर घाटे में चल रहा हो. शेयर ऑटोमैटिक बिक जायेगा। जिसे ट्रेडिंग के भाषा में auto squareoff कहते हैं।

इसमें एक बात ध्यान रखें कि auto squareoff होने पर आपका ब्रोकर पेनाल्टी चार्ज भी काटेगा. जबकि डिलवरी ट्रेडिंग में शेयर को जब तक चाहे ट्रेडर होल्ड करके रख सकता हैं।

FAQ’s

Q. इंट्राडे ट्रेडिंग करने के लिए समय क्या है?

Ans. इंट्राडे ट्रेडिंग 9:00 AM से 3:30 PM के बीच में कर सकते हैं. शनिवार और रविवार शेयर मार्केट बंद रहता है।

Q. इंट्राडे ट्रेडिंग करने के लिए कितना पैसा चाहिए?

Ans. इंट्राडे ट्रेडिंग आप 5000 से शुरू कर सकते हैं.

Q. इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे किया जाता है?

Ans. इंट्राडे ट्रेडिंग करने के लिए आपके पास एक डिमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट होना चाहिए. इसे आप घर बैठे अपने फोन या कंप्यूटर से ट्रेडिंग कर सकते हैं।

रेटिंग: 4.93
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 89
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *