बाइनरी ऑप्शन टिप्स

इंट्रा डे ट्रेडिंग में लाभ कैसे कमाएँ

इंट्रा डे ट्रेडिंग में लाभ कैसे कमाएँ
जानकारी के मुताबिक डिजिटल पेमेंट ऐप Paytm ने Paytm Money सेवा की शुरुआत की है। इसके तहत फ्यूचर एंड आॅप्शंस(एफएंडओ) ट्रेडिंग को सभी के लिए खोल दिया है। कंपनी का कहना है कि इससे आम लोगों को भी शेयर बाजार में निवेश करने का मौका मिलेगा। खास बात यह है कि अब ऐसे लोगों को शेयर बाजार में निवेश करने के लिए किसी ब्रोकर या एजेंट की जरूरत नहीं पड़ेगी। यूजर्स सीधे Paytm मनी की मदद से विभिन्न स्टॉक्स में निवेश कर सकते हैं।

Intraday Trading और Delivery Trading में जाने आपके लिए क्या सही है ? - Share Market


By - Pradeep Tomar / New Delhi
देखिये सबसे पहले आपको इन दोनों का मतलब समझना जरुरी है, तो सबसे पहले दोनों के अपने अपने फायदे और अपने अपने नुकसान समझते है फिर आप अपने आप फैसला कर सकेंगे की आपके लिए क्या अधिक सही है. क्युकी ज्यादातर ब्रोकिंग कंपनिया आपको Intraday में trading करने के लिए प्रेरित करती है क्युकी इसमें उन्हें हर दिन ब्रोकरेज मिलती है. बाकी आप नीचे दी गयी जानकारी को पढ़कर स्वयं फैसला ले.

1. Intraday ट्रेडिंग में आप कोई भी शेयर खरीदते है तो आपको उस शेयर को उसी दिन बेचना भी पड़ेगा चाहे आपको लाभ हो या हानि.
उदहारण के लिए : आपने XYZ कंपनी के 1000 शेयर 50 रुपये में सुबह ख़रीदे क्युकी कंपनी ने आपको एक्सट्रा मार्जिन मनी (क्रेडिट) दे रखा है और अगर शाम तक शेयर 50 रुपये से एक भी रुपये ऊपर गया तो आप लाभ कमा सकते है अर्थात जितना ऊपर जायेगा उतना आप (1000 X जितना ऊपर गया) लाभ कमा पायेगे. और अगर वही शेयर ऊपर जाने के वजाय नीचे गया तो आप उतना ही आप अपना नुकसान कर बैठेंगे. उस नुक्सान के साथ ही साथ आपको ट्रेडिंग की फुल वैल्यू पर ब्रोकरेज फीस / ट्रेडिंग फीस और टैक्स भी देना पड़ेगा. क्युकी intraday की वैलिडिटी सिर्फ एक दिन की ही होती है.

चलिए अब जानते है डिलीवरी (Delivery Trading) ट्रेडिंग के बारे में:

1. अगर आप शेयर को खरीदते समय डिलीवरी (Delivery Trading ) का आप्शन चुनते है तो आपको वैलिडिटी वाली समस्या नहीं होगी, मतलब शेयर की डिलीवरी मिलने के बाद उसे कभी भी बेंच सकते है, ज्यादातर लोग 2-10 में बेंच कर लाभ कमा लेते है, आप चाहे तो दीर्घकाल रखकर सही समय पर बेंच सकते है.

2. डिलीवरी ट्रेडिंग करने के लिए ज्यादातर ब्रोकिंग कंपनियां आपको क्रेडिट मनी न के बराबर या नहीं देती है. मतलब आपके पास अगर 10000 रुपये है तो आप इसी वैल्यू के शेयर्स खरीद कर रख सकते है.

3. डिलीवरी ट्रेडिंग में ख़रीदे गये शेयर को आप कभी भी बेंच सकते है जब भी आपको लगे की आपको लाभ मिल रहा है .
4. डिलीवरी ट्रेडिंग ( Delivery Trading ) में T2T (Trade to Trade segment) के अंतर्गत आने वाले शेयरस को भी खरीद सकते है लेकिन खरीदने से पहले उनके रिस्क के बारे में जरुर पता कर ले.
5. ऐसा नहीं है की डिलीवरी ट्रेडिंग ( Delivery Trading ) में रिस्क नहीं होता पर intraday से कम होता है मतलब कम रिस्क कम लाभ-हानि, ज्यादा रिस्क मतलब ज्यादा लाभ-हानि की स्थिति रहती है.
6. डिलीवरी ट्रेडिंग ( Delivery Trading ) में आपके पास जितना इन्वेस्टमेंट होगा उतने का ही व्यापार कर सकते है.
7. डिलीवरी ट्रेडिंग ( Delivery Trading ) में आप लम्बे या छोटे समय तक का इन्वेस्टमेंट कर सकते है.
8. Delivery Trading charges ज्यादा होते है अगर intraday से तुलना करो तो. आप अपने ब्रोकर कंपनी से इसकी जानकारी जरुर ले.

इंट्राडे ट्रेडिंग v / s डिलिवरी ट्रेडिंग - Intraday vs Delivery Trading :

यह निष्कर्ष करना आसान है कि इंट्राडे ट्रेडिंग आमतौर पर एक दिन में पूरी हो जाती है। इसका विशेष रूप से मतलब है कि दिन में खरीदे गए सभी शेयरों को बाजार के बंद होने से पहले, दिन के अंत तक बेचा जाना चाहिए। अगर इन शेयरों को नहीं बेचा जाता है, तो वे अपने आप बिक जाते है उस समय पर जो भी उसका रेट हो.

हालांकि, दूसरी तरफ, डिलीवरी आधारित व्यापार में, उच्च लाभ रिटर्न के लिए खरीदी गई शेयर लंबी अवधि के लिए बनाए इंट्रा डे ट्रेडिंग में लाभ कैसे कमाएँ रखा जा सकता है।

जबकि इंट्राडे ट्रेडिंग कम पूंजी में ही और ब्रोकिंग कंपनी आपको एक्सट्रा मार्जिन मनी देता है, मतलब आप उधार के पैसो से ज्यादा शेयर खरीद कर अपना लाभ लेकर उन पैसो को वापस करना होता है. वही डिलीवरी ट्रेडिंग के लिए इसके लेनदेन के लिए पूरी रकम की आवश्यकता होती है।

तो अब ये आप पर निर्भर करता है की आप कम पैसो में ज्यादा लाभ या हानि लेना चाहते है या जितने आपके पास पैसे है उन्हें से लाभ या हानि लेना चाहते है.

अब Paytm पर करें शेयर बाजार में निवेश, सिर्फ 10 रुपये से कमाएं लाखों का फायदा

Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: February 19, 2021 11:17 IST

अब Paytm पर करें शेयर. - India TV Hindi

अब Paytm पर करें शेयर बाजार में निवेश, सिर्फ 10 रुपये से कमाएं लाखों का फायदा

नई दिल्ली। स्टॉक मार्केट लगातार नए कीर्तिमान स्थापित कर रहा है। देश के लाखों निवेशक हर दिन शेयर इंट्रा डे ट्रेडिंग में लाभ कैसे कमाएँ बाजार में निवेश कर फायदा उठा रहे हैं। लेकिन जटिल प्रक्रिया के चलते अभी भी आम लोग इससे दूर हैं। लेकिन वॉलेट और यूपीआई सेवा प्रदान करने वाली मोबाइल बैंकिंग सेवा पेटीएम ने अब शेयर मार्केट को भी आम निवेशकों के लिए आसाना बना दिया है। हाल ही में Paytm ने एक नई सेवा शुरू की है. इसकी मदद से बेहद कम कमीशन देकर आप भी स्टॉक्स खरीद सकते हैं।

1 दिन में भी पैसे इंट्रा डे ट्रेडिंग में लाभ कैसे कमाएँ से बना सकते हैं पैसा, बाजार में ऐसे करें इंट्राडे ट्रेडिंग

1 दिन में भी पैसे से बना सकते हैं पैसा, बाजार में ऐसे करें इंट्राडे ट्रेडिंग

क्या कोई ऐसी जगह है, जहां 1 दिन के लिए पैसे लगाकर मोटी कमाई की जा सकती है.

Tips For Day Trading: क्या कोई ऐसी जगह है, जहां 1 दिन के लिए पैसे लगाकर मोटी कमाई की जा सकती है. अगर आपके मन में भी यह सवाल है तो इसका जवाब हैं हां. शेयर बाजार ऐसी जगह है, जहां महज कुछ घंटों की ट्रेडिंग में पैसे से पैसा बना सकते हैं. सही और सटीक शेयर चुनने में सफल रहते हैं तो हाथों हाथ जेब में मोटी रकम आ सकती है. ऐसा संभव है इंट्राडे ट्रेडिंग में, जिसमें बाजार निवेशकों को 1 दिन में भी बंपर मुनाफा कमाने का मौका देता है.

कैसे कर सकते हैं इंट्राडे ट्रेडिंग

अगर शेयर बाजार में डे-ट्रेडिंग करना चाहते हैं तो इसके लिए पहले आपको डीमैट अकाउंट और एक ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाना होता है. इस अकाउंट में आप या तो ब्रोकर को फोन पर ऑर्डर देकर शेयर का कारोबार कर सकते हैं या ऑनलाइन भी खुद से ट्रेडिंग कर सकते हैं.

Stock Market: सेंसेक्‍स की रिकॉर्ड क्‍लोजिंग, निफ्टी 18813 पर बंद, IT शेयरों में रैली, TCS-TECHM टॉप गेनर्स

Stocks Market 2022: इस साल 52 शेयरों ने 100% से 310% दिए रिटर्न, आपके पोर्टफोलियो में कितने हैं शामिल

कैसे चुनें सही स्टॉक

  • सिर्फ लिक्विड स्टॉक में ट्रेडिंग करें, 2 या 3 ऐसे स्टॉक चुन सकते हैं.
  • वोलेटाइल स्टॉक से दूर रहें.
  • अच्छे कोरेलेशन वाले शेयरों में करें खरीददारी.
  • शेयर का चुनाव करने के पहले बाजार का ट्रेंड जरूर देख लें, मार्केट के ट्रेंड के खिलाफ न जाएं.
  • रिसर्च के बाद जिन शेयरों को लेकर कांफिडेंट हैं, उनमें निवेश करें.
  • शेयर खरीदने के पहले यह तय करें कि किस भाव में खरीदना है और उसका लक्ष्य कितना है. स्टॉप लॉस जरूर लगाएं.
  • जैसे ही लक्ष्य पूरा हो, प्रॉफिट बुकिंग करें.

इंट्रा डे में आप किसी शेयर में कितनी भी रकम लगा सकते हें. शेयर बाजार में नियम है कि जिस दिन शेयर खरीदा जाता है, उस दिन पूरा पैसा नहीं देना होता है. नियम के तहत जिस दिन शेयर खरीदा जाता है, उसके 2 ट्रेडिंग दिनों के बाद पूरा भुगतान करना होता है. फिर भी आपको शेयर के भाव का शुरू में 30 फीसदी रकम निवेश करना होता है.

कैसे मिलता है फायदा

इसका उदाहरण 29 अक्टूबर यानी मंगलवार को शेयर बाजार में होने वाली ट्रेडिंग से ले सकते हैं. टाटा मोटर्स के शेयरों में निवेश करने वालों के लिए मंगलवार का दिन बेहतर साबित हुआ. पॉजिटिव सेंटीमेंट जुड़ने के बाद कंपनी के शेयर में 16 फीसदी तक तेजी आई है. इसके पहले 3 अक्टूबर को पॉजिटिव सेंटीमेंट बनने से ही यस बैंक में करीब 29 फीसदी तेजी आई.

एक्सपर्ट का मानना है कि शेयर बाजार का अधिकांश कारोबार डे ट्रेडिंग का ही होता है, लेकिन फिर भी सावधानी के साथ कारोबार करना चाहिए. शेयर का चुनाव करने के पहले बाजार का ट्रेंड जरूर देखना चाहिए. मार्केट के ट्रेंड के खिलाफ न जाएं. शेयर खरीदने के पहले यह तय करें कि किस भाव में खरीदना है और उसका लक्ष्य कितना है. स्टॉप लॉस जरूर लगाएं.

(Discliamer: हम यहां इंट्राडे कारोबार के बारे में जानकारी दे रहे हैं, न कि निवेश की सलाह. शेयर बाजार के अपने जोखिम होते हैं, इसलिए निवेश के पहले एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें.)

trading account

ट्रेडिंग का मतलब होता है किसी भी वास्तु या सेवा को कम दाम में खरीदना और फिर उस वस्तु या सेवा इंट्रा डे ट्रेडिंग में लाभ कैसे कमाएँ का दाम बढ़ जाने पर उसे बेच देना। ट्रेडिंग का मुख्य मकसद किसी भी वास्तु या सेवा को खरीद कर कम समय में लाभ कमाना होता है। यही कारण है कि ट्रेडिंग शेयर मार्किट में सबसे ज्यादा की जाती है। और लोग हर रोज शेयर पर ट्रेडिंग करके हजारों और लाखों रूपये कमा लेते है।

तो अगर आप शेयर पर ट्रेडिंग करके पैसे कमाना चाहते है। तो सबसे पहले आपको शेयर मार्किट ट्रेडिंग को समझना होगा। चलिए जानते है शेयर मार्किट ट्रेडिंग क्या है ?

Share Market Trading Kya Hai?

शेयर मार्किट ट्रेडिंग, शेयर पर होने वाली ट्रेडिंग को कहते है। जब सुबह 9:15 AM पर शेयर मार्किट खुलती है। तब ट्रेडर कम दाम में शेयर को खरीद लेते है। और दोपहर के 3:30 PM के पहले शेयर को बेच देते है। क्योंकि शेयर मार्किट सुबह 9:15 AM पर खुलती है और 3:30 PM पर बंद हो जाती है। इस बीच ट्रेडर अपने ख़रीदे हुए शेयर पर अनुमानित मुनाफे को देख कर शेयर को बेच कर मुनाफा कमा लेते है। लेकिन शेयर मार्किट में ट्रेडिंग अलग-अलग प्रकार कि होती है। और ट्रेडर अपनी सुविधा और जोखिम के अनुसार ट्रेडिंग करते है।

ट्रेडिंग कितने प्रकार कि होती है ?

शेयर मार्किट में मुख्य रूप से 3 प्रकार कि ट्रेडिंग होती है। और ट्रेडर मुनाफा कमाने के लिए अपनी सुविधा अनुसार ट्रेडिंग करते है।

Types of Share Trading?

Intraday Trading Kya Hai ?

शेयर मार्किट के खुलने से लेकर उसके बंद होने के पहले शेयर को खरीद कर बेचने को Intraday Trading कहते है।

इसमें ट्रेडर 9:15 AM से 3:30 PM के बीच शेयर को खरीदता और बेचता है।

Scalping Trading Kya Hai ?

सकैलपिंग ट्रेडिंग भी शेयर मार्किट के खुलने से उसके बंद होने के बीच में की जाती है। लेकिन Scalping Trading में पुरे दिन ट्रेडिंग नहीं की जाती।

यह ट्रेडिंग ज्यादा से ज्यादा पैसों के साथ कुछ ही मिनट या घंटे के लिए कि जाती है। जैसे 9:15 AM पर शेयर को खरीद कर 10:05 AM पर ही शेयर बेच कर मुनाफा कमा लेना।

Swing Trading Kya Hai ?

Swing Trading बाकि दोनों सकैलपिंग ट्रेडिंग और इंट्राडे ट्रेडिंग से अलग है। यह कुछ दिन और हफ़्तों के लिए की जाती है। लेकिन इसमें भी शेयर को खरीदना और बेचना शेयर मार्किट के खुलने और बंद होने के बीच ही किया जाता है। स्विंग ट्रेडर पहले शेयर मार्किट में कम दाम पर शेयर खरीद लेते है। और फिर उन्हें hold करके रख लेते है। उसके बाद जब कुछ दिन या हफ्ते में उनके शेयर की price ज्यादा हो जाती है, तो उन्हें बेच कर इंट्रा डे ट्रेडिंग में लाभ कैसे कमाएँ मुनाफा कमा लेते है।

trading account क्या है ? → what is trading account?

Trading Account एक ऐसा खाता है, जिसमे निवेशक या ट्रेडर के पैसा जमा होते है। यह Trading Account , निवेशक या ट्रेडर के डीमैट अकाउंट से लिंक कर दिया जाता है। जिसकी वजह से शेयर खरीदने के बाद शेयर Demat अकाउंट में जमा हो जाते है। और शेयर बेचने पर Demat Account में से शेयर निकल जाते है।

ट्रेडिंग और डीमैट अकाउंट के बिच का फर्क (Difference Between Demat and Trading Account):

  • ज्यादातर लोग Trading और Demat Account एक साथ खुलवाने की वजह से इन दोनों के बिच का फर्क नहीं जानते। लेकिन इन दोनों के बिच बहुत बड़ा फर्क होता है।
  • Demat Account एक ऐसी जगह है जिसमे आपके द्वारा ख़रीदे गए शेयर को रखा जाता है। इसलिए यह एक स्टोरेज की तरह होता है। जिसमे कोई शेयर खरीदने पर शेयर जमा होता है। और बेचने पर शेयर निकल जाता है। जबकि Trading Account का उपयोग है, शेयर ख़रीदने और बेचने के लिए ऑर्डर रखने की सुविधा देना।
  • इंट्रा डे ट्रेडिंग में लाभ कैसे कमाएँ
  • ट्रेडिंग अकाउंट में पैसा जमा रखा जा सकता है। जबकि डीमैट अकाउंट में पैसा जमा नहीं होता।

trading account के लाभ (Benefits of a Trading Account) :

  • बदलती टेक्नोलॉजी के कारण Online Trading की सुविधा से शेयर की खरीद बिक्री बहुत ही आसान हो गई है।
  • शेयर खरीदने पर पैसा कटना और बेचने पर पैसा जमा होना यह सभी ऑटोमैटिक हो जाता है।
  • ऑनलाइन ट्रेडिंग की सुविधा की वजह से लिखित या कॉल कर के ऑर्डर देने की जरुरत नहीं रहती। और भेजा गया ऑर्डर बहुत जल्दी कम्पलीट हो जाता है।
  • सिर्फ एक मोबाइल के द्वारा किसी भी जगह से शेयर खरीद और बेच सकते है।

तो दोस्तों यह था trading account क्या है? कैसे बनाए trading account? उम्मीद करता हु आपको trading account के बारे इंट्रा डे ट्रेडिंग में लाभ कैसे कमाएँ में पूरी जानकारी समझ आ गया होगा,

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है । हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें ।

सोने और चांदी में ट्रेडिंग को लेकर क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स

कमोडिटी एक्सपर्ट मनोज कुमार जैन (Manoj Kumar Jain) के मुताबिक आज के कारोबार में सोने और चांदी में उतार-चढ़ाव की आशंका है. विदेशी बाजार में सोना 1,700 डॉलर के सपोर्ट को होल्ड कर सकता है और 1,733 डॉलर प्रति औंस के ऊपरी लेवल को छू सकता है. इसके अलावा चांदी का भाव भी 15 डॉलर प्रति औंस के लेवल को होल्ड इंट्रा डे ट्रेडिंग में लाभ कैसे कमाएँ कर सकता है और ऊपर में 15.40-15.55 डॉलर प्रति औंस को छू सकता है. MCX पर सोने और चांदी में क्रमश: 45,330 रुपये और 41,650 रुपये का महत्वपूर्ण सपोर्ट है. उनका कहना है कि सोना और चांदी का भाव क्रमश: 45,750-45,920 रुपये और इंट्रा डे ट्रेडिंग में लाभ कैसे कमाएँ 42,200-42,500 रुपये के ऊपरी स्तर को छू सकता है. उनका कहना है कि आज के सत्र में निचले स्तर पर सोने और चांदी में रिकवरी दिखाई पड़ सकती है.

एंजेल ब्रोकिंग (Angel Broking) डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट (एनर्जी एवं करेंसी) अनुज गुप्ता (Anuj Gupta) के मुताबिक आज के कारोबार में MCX पर सोना जून वायदा में 45,100 रुपये के लक्ष्य के लिए 46,000 रुपये के भाव पर बिकवाली का मौका है. इस सौदे के लिए 46,450 रुपये का स्टॉपलॉस लगाया जा सकता है. वहीं दूसरी ओर चांदी जुलाई वायदा में 42,700 रुपये के भाव पर बिकवाली करके 41,800 रुपये का लक्ष्य हासिल किया जा सकता है. इस कॉन्ट्रैक्ट के लिए 43,200 रुपये का स्टॉपलॉस लगा सकते हैं.

रेटिंग: 4.93
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 196
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *