सीएफडी और फॉरेक्स ट्रेडिंग

ट्रेडिंग के मौके का फायदा उठाना

ट्रेडिंग के मौके का फायदा उठाना
“राजस्थान, दिल्ली, पंजाब सभी ने नए खिलाड़ियों को मौका दिया हैं और वे भी बहुत अच्छे और स्ट्रोंग दिख रहे हैं। हमें सभी के खिलाफ अच्छे से खेलना होगा और मौकों का पूरा फायदा उठाना होगा। मैं हमारी टीम को ज्यादा स्ट्रोंग या फेवरेट के रूप के नजरिये से नहीं देख रहा हूँ क्योंकि बाक़ी टीमें भी अच्छी स्थिति में और मजबूत है.”

फेस्टिव सीजन को देखते हुए अमेजन ने उठाया बड़ा कदम, नए वेंडर के लिए सेलिंग फीस घटाई, यहां जानें नए रेट

Amazon Gift to New Vender: कंपनी ने अपने प्लेटफॉर्म पर नए वेंडर को एक बड़ी राहत की खबर दी है. इसके तहत कंपनी ने नए वेंडर के लिए सेलिंग फीस में थोड़ी राहत देने का ऐलान किया है.

Amazon Gift to New Vender: फेस्टिव सीजन को ध्यान में रखते हुए दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन नए वेंडर्स के लिए एक राहत की खबर लेकर आई है. कंपनी ने भारत में नए वेंडर के लिए सेलिंग फीस (Selling Fee) को 50 फीसदी तक घटा दिया है. कंपनी ने सोमवार को इस बात की जानकारी दी. बता दें कि अमेजन पर सभी वेंडर की ओर से अपने प्रोडक्ट को बेचने के लिए एक सेलिंग फीस का भुगतान करना होता है. ये भुगतान फीस खरीदारों की ओर से भुगतान की गई राशि यानी कि वेंडर की सेल के कुल हिस्से को कैलकुलेट करके निकाला जाता है. ऐसे में नए वेंडर के लिए कंपनी ने सेलिंग फीस यानी कि वेंडर की ओर से ट्रेडिंग के मौके का फायदा उठाना दी जाने वाली राशि को कम करने का फैसला किया है.

फेस्टिव सीजन की वजह से लिया ये फैसला

बता दें कि आने वाले फेस्टिव सीजन में नए विक्रेताओं को उनकी ई-कॉमर्स यात्रा की अच्छी शुरुआत करने के लिए, कंपनी ने ऐलान किया है कि जो भी नए वेंडर 28 अगस्त से 26 अक्टूबर के बीच अमेजन में रजिस्टर करेंगे तो उन्हें रजिस्ट्रेशन से अगले 90 दिनों तक 50 फीसदी की छूट तक का फायदा उठा सकते हैं. कंपनी ने कहा कि ऐसे वेंडर सभी कैटेगरी में बिक्री शुल्क पर 50 फीसदी छूट का लाभ उठा पाएंगे.

फेस्टिव सीजन में मिलेगा फायदा

अमेजन कंपनी ने ये भी ऐलान किया है कि देशभर के लाखों वेंडर्स को आने वाले फेस्टिव सीजन में संभावित लाभ का फायदा उठाने के मौके की तलाश कर रहे हैं. इसमें सभी तरह के बिजनेस शामिल हैं. इसमें लोकल स्टोर्स, ट्रेडिशनल वीवर्स और आर्टिस्ट, महिला व्यापारी और साथ में स्टार्टअप और डिजिटल आंत्रेप्रोन्योर को भी शामिल किया गया है.

इन सप्लायर्स को मिली छूट

सरकार ने 40 लाख रुपये से कम टर्नओवर वाले ई-कॉमर्स पर आपूर्तिकर्ताओं को जीएसटी पंजीकरण से छूट दी है, जिससे माल की ऑनलाइन बिक्री को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है. अमेजन इंडिया फुलफिल चैनल के डायरेक्टर, विवेक सोमारेड्डी ने एक बयान में कहा कि हमारे पास भारत में 10 लाख से भी ज्यादा सेलर्स हैं, जिनके पास हमारे कस्टमर को अपने प्रोडक्ट दिखाने का मौका होगा. बता दें कि अमेजन के पास 60 से ज्यादा फुलफिलमेंट सेंटर हैं. 19 राज्यों में छटाई केंद्र हैं और 1850 से ज्यादा अमेजन स्वामित्व और पार्टनर स्टेशन हैं.

CII Program- मोदी ने इकोनॉमी पर कहा- ग्रोथ जरूर लौटेगी, मेड इन इंडिया और मेड फॉर फॉरेन अब देश की जरूरत है

CII Program- मोदी ने इकोनॉमी पर कहा- ग्रोथ जरूर लौटेगी, मेड इन इंडिया और मेड फॉर फॉरेन अब देश की जरूरत है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को भारतीय उद्योग महासंघ (सीआईआई) के 125 पूरे होने के कार्यक्रम को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि इकोनॉमी में तेजी जरूर आएगी, कोरोना के खिलाफ हमें सख्त कदम उठाने हैं। आज देश की सबसे बड़ी सच्चाई ये है कि भारत लॉकडाउन को पीछे छोड़कर अनलॉक फेज-1 में एंटर कर चुका है। इस फेज में इकोनॉमी का बहुत बड़ा हिस्सा खुल चुका है। काफी हिस्सा आठ दिन के बाद और खुल रहा। यानी गेटिंग ग्रोथ बैक की शुरुआत तो हो चुकी है। मोदी के भाषण की 9 अहम बातें मुझे टैलेंट और टेक्नोलॉजी पर पूरा भरोसा 125 साल में सीआआई को मजबूत करने में जिन्होंने भी योगदान दिया, उन्हें बधाई दूंगा। जो हमारे बीच नहीं होंगे उन्हें आदरपूर्वक नमन करूंगा। कोरोना के इस टाइम पीरियड में इस तरह के ऑनलाइन इवेंट न्यू नॉर्मल बनते जा रहे हैं। ये इंसान की सबसे बड़ी ताकत होती है। हमें लोगों का जीवन भी बचाना है और अर्थव्यवस्था को भी मजबूत करना है। आप सभी उद्योग जगत के लोग बधाई के पात्र हैं। मैं तो गेटिंग ग्रोथ बैक से आगे बढ़कर ये भी कहूंगा कि यस. वी आर गेटिंग ग्रोथ बैक। आप सोच रहे होंगे कि संकट की इस घड़ी में मैं इतना आत्मविश्वास से कैसे बोल रहा हूं। इसके कई कारण है। मुझे भारत के टैलेंट और टेक्नोलॉजी पर भरोसा है। सही तरीके से सही समय पर सही कदम उठाए दूसरे देशों से तुलना करें तो पता चलता है कि भारत में लॉकडाउन का कितना फायदा हुआ। अब सवाल ये है कि इसके आगे क्या? इंडस्ट्री लीडर के नाते आपके मन में ये सवाल जरूर होगा कि हम क्या करने जा रहे हैं। आत्मनिर्भर भारत अभियान के बारे में भी मुझे पक्का विश्वास है कि आपके मन में सवाल होंगे। ये बहुत स्वाभाविक है। कोरोना के खिलाफ इकोनॉमी को फिर से मजबूत करना, ये हमारी प्रमुख प्राथमिकता है। जो फैसले तुरंत लेने जरूरी हैं, वो लिए जा रहे हैं। साथ ही ऐसे फैसले भी लिए जो लंबी अवधि में मदद करेंगे। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना से गरीबों को तुरंत लाभ देने में बहुत मदद मिली। 4 करोड़ लोगों के घर तक राशन पहुंचाया। प्रवासी श्रमिकों के लिए भी फ्री राशन पहुंचाया जा रहा है। गरीबों की 53 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा आर्थिक मदद कर चुके हैं। रिफॉर्म का मतलब फैसले लेने का साहस करना हमारे फैसलों में इन्क्लूजन, इन्वेस्टमेंट, इनोवेशन और इन्फ्रास्ट्रक्चर की झलक मिलेगी। आज भारत एक नई ग्रोथ की उड़ान के लिए तैयार है। हमारे लिए रिफॉर्म का मतलब है, फैसले लेने का साहस करना। आईबीसी हो, बैंक मर्जर हो या जीएसटी हो हमने हमेशा सरकार के दखल को कम करने की कोशिश की। सरकार आज ऐसी पॉलिसी रिफॉर्म भी कर रही है, जिसकी देश ने उम्मीद भी छोड़ दी थी। एग्रीकल्चर सेक्टर में आजादी के बाद जो नियम बने उनमें किसानों को बिचौलियों के हाथ में छोड़ दिया गया। किसानों के साथ दशकों से हो रहे अन्याय को दूर करने की इच्छाशक्ति हमारी सरकार ने दिखाई। कानून में बदलाव के साथ अब किसानों को अधिकार मिलेंगे। वे जहां चाहें, जिसे चाहें और जब चाहें अपनी फसल बेच सकते हैं। वेयरहाउस में रखे अनाज अब इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग के जरिए भी बेचे जा सकते हैं। इससे एग्रो बिजनेस के लिए कितने रास्ते खुलने जा रहे हैं। इसके साथ ही रोजगार बढ़ाने के लिए लेबर रिफॉर्म किए जा रहे हैं। कोल सेक्टर की ताकत बढ़ाई दुनिया का तीसरा बड़ा देश, जिसके पास कोयले का भंडार हो, बिजनेस लीडर हों, उस देश में बाहर से कोयला आए, इसका कारण क्या है। कभी सरकार तो कभी नीतियां रुकावट बन रही थीं। लेकिन अब कोल सेक्टर में कमर्शियल माइनिंग को परमिट कर दिया गया है। मिनरल माइनिंग में भी कंपनियां एक्सप्लोरेशन के साथ माइनिंग भी कर सकती हैं। सरकार जिस दिशा में बढ़ रही है उससे माइनिंग सेक्टर हो या रिसर्च सेक्टर हो, सब में इंडस्ट्री और यूथ को नए मौके मिलेंगे। स्ट्रैटजिक सेक्टर में भी निजी निवेश संभव हो गया है। एमएसएमई सेक्टर को बढ़ावा दिया एमएसएमई सेक्टर की लाखों यूनिट का देश की जीडीपी में करीब 30% योगदान है। एमएसएमई की परिभाषा स्पष्ट करने की मांग उद्योग जगत लंबे समय से कर रहा था। ये मांग भी पूरी हो चुकी है। एमएसएमई बिना किसी चिंता के बिजनेस कर पाएंगे। उन्हें अपना दर्ज बनाए रखने के लिए दूसरे रास्तों पर चलने की जरूरत नहीं होगी। इस सेक्टर के करोड़ों साथियों को लाभ हो इसके लिए 200 करोड़ रुपए तक की सरकारी खरीद में ग्लोबल टेंडर को खत्म कर दिया गया है। 150 देशों की मदद की कोरोना संकट में हर कोई अपने को संभालने में लगा है। ऐसे संकट की घड़ी में भारत ने 150 से ज्यादा देशों को मेडिकल सप्लाई भेजकर मानवीय मदद का काम किया है। वर्ल्ड इज लुकिंग फॉर ए रिलायबल पार्टनर। भारत में इसकी क्षमता है। इंडस्ट्री को इस मौके का पूरा फायदा उठाना चाहिए। आज दुनिया का भारत पर विश्वास भी बढ़ा है और नई आशा का संचार भी हुआ है। आत्मनिर्भर भारत का रास्ता साफ सीआईआई जैसे संगठनों की जिम्मेदारी है कि आप एक कदम बढ़ाएंगे तो सरकार चार कदम बढ़ाकर आपकी मदद करेगी। प्रधानमंत्री के नाते आपको इसका भरोसा देता। आपके पास एक साफ रास्ता है, आत्मनिर्भर भारत का रास्ता। आत्मनिर्भर भारत का मतलब है कि हम और ज्यादा मजबूत होकर दुनिया की इकोनॉमी के साथ इंटीग्रेटेड भी होगा और सर्पोटिव भी। हमें एक ऐसी लोकल सप्लाई चेन में इन्वेस्टमेंट करना है जिससे ग्लोबल सप्लाई चेन में भारत की स्थित मजबूत हो। मुझे लगता है कि सीआईआई जैसे संगठनों को भी फोर्स कोरोना की तरह आगे आना है। आपको इंडस्ट्री, अपने मार्केट को ग्लोबली बढ़ाने में मदद करनी है। अब जरूरत है कि देश में ऐसे प्रोडक्ट बनें जो मेड इन इंडिया हों, मेड फॉर फॉरेन हों। देश का आयात कैसे कम करें, इस पर सोचने की जरूरत है। ग्लोबल एक्सपोर्ट बढ़ाना होगा देश में मैन्युफैक्चरिंग, मेक इन इंडिया को रोजगार का बड़ा माध्यम बनाने के लिए आप जैसे संगठनों से चर्चा कर योजना बनाई गई है। तीन सेक्टर पर काम शुरू भी हो चुका है। ग्लोबल एक्सपोर्ट में हमारा शेयर काफी कम हैं। कई सेक्टर में हम अच्छा कर सकते हैं। बीते सालों में आपके सहयोग से देश में वंदे भारत जैसी आधुनिक ट्रेनें बनीं। देश आज मेट्रो के कोच निर्यात कर रहा है। मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग हो, डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग हो, कई सेक्टर में हम इंपोर्ट पर निर्भरता कम करने की कोशिश में जुटे हैं। रिकॉर्ड पीपीई किट बना रहे आज भारत एक दिन में 3 लाख पीपीई किट बना रहा है तो ये हमारे उद्योग जगत का ही सामर्थ्य है। इसी का इस्तेमाल कर हर सेक्टर में आगे बढ़ना है। रूलर इकोनॉमी, किसानों से साथ पार्टनरशिप का रास्ता खुलने का फायदा आपको उठाना चाहिए। सीआईआई के तमाम मेंबर के लिए कई मौके हैं। एग्रीकल्चर, फिशरीज, फुटवियर जैसे तमाम सेक्टर में नए मौके आए हैं। आपसे मैं लगातार संवाद करता रहा हूं, ये सिलसिला आगे भी जारी रहेगा। हर सेक्टर की डिटेल स्टडी के साथ आप आएं, हम मिलकर आत्मनिर्भर भारत बनाएंगे। इस संकल्प को पूरा करने के लिए ताकत लगा दें, सरकार आपके साथ है। आप सफल होंगे, हम सफल होंगे तो देश नई ऊंचाइयों पर पहुंचेगा। जीडीपी ग्रोथ 11 साल के निचले स्तर पर सरकार ने पिछले शुक्रवार जीडीपी ग्रोथ के आंकड़े जारी किए। चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च) में ग्रोथ रेट घटकर 3.1 फीसदी रही। वहीं, पूरे फाइनेंशियल ईयर में 4.2 फीसदी रही। ये 11 साल का सबसे निचला स्‍तर है। इससे पहले 2009 में जीडीपी ग्रोथ इस स्‍तर के करीब थी। सरकार ने पिछले महीने 20 लाख करोड़ के पैकेज घोषित किए थे पहले से ही दिक्कतों से जूझ रही देश की अर्थव्यवस्था को कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन की वजह से और झटका लगा है। इकोनॉमी को कोरोना के असर से बचाने के लिए सरकार ने पिछले महीने 20 लाख करोड़ रुपए के पैकेज घोषित किए थे, इनमें आरबीआई की घोषणाएं भी शामिल थीं। मोदी कैबिनेट ने सोमवार को खरीफ की फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) बढ़ाने और छोटे-मध्यम उद्योगों (एमएसएमई) से जुड़ी योजनाओं को भी मंजूरी दी थी। मोदी ने एमएसएमई की मदद के लिए चैम्पियन पोर्टल भी लॉन्च किया है।

रोहित ने छुपाया टीम प्लान, लेकिन कोच जयवर्धने ने खोला राज, बताया क्या होगी आईपीएल 2018 में टीम रणनीति

रोहित ने छुपाया टीम प्लान, लेकिन कोच जयवर्धने ने खोला राज, बताया क्या होगी आईपीएल 2018 में टीम रणनीति 1

मुंबई इंडियंस के कोच माहेला जयवर्धने के अनुसार आईपीएल के मौजूदा चैंपियन मुंबई इंडियंस को यह सीजन बड़े अच्छे से शुरू करना है और जीतना इतना आसान नहीं होगा, साथ ही मौके का फायदा भी उठाना लाभदायक होने वाला है। गुरुवार को एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुंबई इंडियंस टीम के कोच जयवर्धने ने कहा कि टीम में कई नए खिलाड़ी है और साथ ही काफी मजबूत नजर आ रही है।

रोहित ने छुपाया टीम प्लान, लेकिन कोच जयवर्धने ने खोला राज, बताया क्या होगी आईपीएल 2018 में टीम रणनीति 2

जयवर्धने ने कहा, कि

“राजस्थान, दिल्ली, पंजाब सभी ने नए खिलाड़ियों को मौका दिया हैं और वे भी बहुत अच्छे और स्ट्रोंग दिख रहे हैं। हमें सभी के खिलाफ अच्छे से खेलना होगा और मौकों का पूरा फायदा उठाना होगा। मैं हमारी टीम को ज्यादा स्ट्रोंग या फेवरेट के रूप के नजरिये से नहीं देख रहा हूँ क्योंकि बाक़ी टीमें भी अच्छी स्थिति में और मजबूत है.”

वहीं टीम के कप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि “टीम में सभी खिलाड़ी अच्छी तरह से तैयार है और विरोधी टीम के बारे में कोई चिंता नहीं है।”

“मुंबई हमेशा एक अच्छी टीम रही है, हम विरोधी टीम के बारे में चिंतित नहीं हैं। हमारे पास टूर्नामेंट जीतने के लिए क्या जरूरी है। हम एक समय में केवल एक मैच खेलेंगे और फाइनल के बारे में चिंता न करें।”

क्या मलिंगा की अनुपस्थिति में जसप्रीत बुमराह टीम के मुख्य तेज गेंदबाज होंगे ?

इस सवाल का जवाब देते हुए जयवर्धने ने कहा, कि

“बुमराह बहुत अच्छे से खेलता है इसमें कोई शक नहीं है। इस बार उन्हें अनुभवी गेंदबाज मुस्ताफिजुर रहमान, मैकलेन्घन और पेट कमिंस का साथ मिलेगा तो ज्यादा अच्छा करेंगे। हार्दिक भी एक बेहतर गेंदबाज़ है, इसलिए मुझे नहीं लगता कि हमें काफी चिंता है.”

रोहित ने छुपाया टीम प्लान, लेकिन कोच जयवर्धने ने खोला राज, बताया क्या होगी आईपीएल 2018 में टीम रणनीति 3

रोहित ने ऑलराउंडर क्रुणाल पांड्या की प्रशंसा की, उन्होंने कहा कि वह टीम के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे, लेकिन अन्य अच्छे स्पिनर भी हैं जो उन्हें मदद करेंगे।

“स्पिनरों ने हमेशा हमारे लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्होंने हमें सफलता प्रदान की है और पारी की गति को बदल दिया है। हमारे पास कुछ महान प्रतिभा है, मैं सिर्फ उम्मीद करता हूं कि वे अपने क्लब में जैसे अच्छे खेलते है वैसे ही यहाँ भी प्रदर्शन करें। कप्तान ने कहा कि देर से लेकिन वह अभ्यास में अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे। वह अपनी भूमिका भली भांति जानते है और मुझे उम्मीद है कि वह हमारे लिए बेहतर क्रिकेट खेलेंगे।

आईपीएल में पहली बार डीआरएस और मिड-सीज़न की शुरुआत होगी, जयवर्धने ने कहा कि यह बदलाव अच्छा है और क्रिकेट फुटबॉल के रास्ते की तरफ आगे बढ़ना शुरू कर रहा है।

“मिड-सीजन ट्रेडिंग कुछ ऐसी चीज है जिसे हमें नजर रखनी होगी, यह एक अच्छा मौका है और कुछ नया है। डीआरएस कुछ समय के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में देखने को मिल रहा है, इसलिए इसे आईपीएल में भी लागू किया गया है, इससे अगर गलत आउट दिया जाता है तो खिलाड़ियों को मौका भी मिलेगा, “जयवर्धने ने कहा।

अमेरिकी बाजार: 133 अंक ऊपर खुला डाउ जोंस, भारत-चीन के बाजारों में भी बढ़त; गलवान घाटी मामले पर चीन के खिलाफ अमेरिका भारत के साथ

शुक्रवार को अमेरिकी बाजार बढ़त के साथ खुले। डाउ जोंस 0.51 फीसदी की बढ़त के साथ 133 अंक ऊपर खुला। जबकि नैस्डैक 0.33 फीसदी की बढ़त के साथ 32 अंक ऊपर और एसएंडपी 1.16 फीसदी की बढ़त के साथ 36 अंक ऊपर खुला। बाजार खुलते समय डाउ जोंस 26213, नैस्डैक 9943 और एसएंडपी 3151 अंक पर कारोबार कर रहे थे। शुक्रवार को दुनियाभर के ज्यादातर बाजारों में बढ़त रही। जापान का निक्कई 123 अंक, चीन का शंघाई कम्पोसिट 28 अंक, हॉन्ग कॉन्ग का हैंग सैंग 178 अंक, भारत का निफ्टी 152 अंक और सेंसेक्स 523 अंक और दक्षिण कोरिया का कोस्पी 7 अंक की बढ़त के साथ बंद हुए। वहीं, इस समय यूके टाइम का FTSE 100, फ्रांस का CAC 40, जर्मनी का DAX, इटली का FTSE MIB, रूस का MICEX बढ़त में कारोबार कर रहे हैं।

इस समय यूके टाइम का FTSE 100, फ्रांस का CAC 40, जर्मनी का DAX, इटली का FTSE MIB, रूस का MICEX बढ़त में कारोबार कर रहे हैं

इस समय यूके टाइम का FTSE 100, फ्रांस का CAC 40, जर्मनी का DAX, इटली का FTSE MIB, रूस का MICEX बढ़त में कारोबार कर रहे हैं

गुरुवार को गिरावट के साथ बंद हुआ था डाउ जोंस

  • गुरुवार को डाउ जोंस 0.15 फीसदी यानी 39 अंक की गिरावट के साथ 26080 अंक पर बंद हुआ था। नैस्डैक 0.33 फीसदी यानी 32 अंक की बढ़त के साथ 9943 अंक पर और एसएंडपी 0.06 फीसदी यानी 1 अंक की बढ़त के साथ 3115 अंक पर बंद हुआ था।

अमेरिका: 1.20 लाख से ज्यादा मौतें

  • worldometers के मुताबिक, शुक्रवार को अमेरिका में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 22,64,307 पर पहुंच गया। जबकि देश में ट्रेडिंग के मौके का फायदा उठाना अबतक 1,20,691 लोगों की मौत हो चुकी है। ठीक होने वालों की संख्या 9,31,150 है।

अमेरिका : बीजिंग के आंकड़ों पर सवाल

  • गुरुवार रात अमेरिका ने चीन की राजधानी बीजिंग में संक्रमण के दूसरे दौर और इसके आंकड़ों पर सवाल उठाए। अमेरिका की तरफ से जारी बयान में कहा गया- बीजिंग में संक्रमण किस हद तक है, इसका पता लगाया जाना जरूरी है। दुनिया के सामने सच आना चाहिए। हमारी मांग है कि वहां स्वतंत्र टीम भेजी जाए। यह टीम बीजिंग में संक्रमण की स्थिति और आंकड़ों की जांच करे। दूसरी तरफ, चीन ने इस मामले और अमेरिका की मांग पर चुप्पी साध ली। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने यही मांग की है।

चीन के खिलाफ अमेरिका भारत के साथ

  • अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने लद्दाख में चीन सीमा पर शहीद हुए भारतीय सैनिकों के लिए शोक व्यक्त किया है। उन्होंने शुक्रवार को ट्वीट किया, ‘‘हम चीन के साथ हुए हालिया विवाद में भारतीय सैनिकों के शहीद होने पर संवेदनाएं जताते हैं। हम सैनिकों को हमेशा याद रखेंगे, जिनके परिवार, करीबी और प्रियजन शोक में डूबे हैं।’’

अमेरिकी सांसद ने कहा- चीनी सेना ने भारतीय सैनिकों को उकसाया होगा

  • अमेरिकी सांसद मिच मैक्कॉनेल ने सदन में चर्चा के दौरान भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हुई झड़प का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि चीनी सेना ने ही सीमा हड़पने के लिए भारतीय सैनिकों को उकसाया होगा। इस वजह से ही दोनों देशों के बीच 1962 से अब तक की सबसे हिंसक झड़प हुई। दो एटमी ताकत देशों के बीच हुआ यह विवाद पूरी दुनिया के लिए चिंता की बात है। उन्होंने कहा कि चीन की सेना कई देशों की सीमा में घुसने की कोशिश कर चुकी है।

दुनिया के लिए मुसीबत बनता चीन

  • अमेरिका ने कहा है कि चीन दुनिया को कोरोनावायरस में उलझाकर मौके का फायदा उठा रहा है। उसने कई मोर्चे खोल दिए हैं। भारत के साथ लद्दाख की गलवान घाटी में जो कुछ हुआ, वो चीन की इसी साजिश का हिस्सा है। यह आरोप डेविड स्टिलवेल ने लगाए हैं। डेविड अमेरिका में पूर्वी एशिया और प्रशांत महासागर क्षेत्र के मंत्री हैं।
  • बता दें कि 15 जून की रात चीनी सेना ने लद्दाख की गलवान घाटी में भारतीय जवानों पर हमला किया था। झड़प में भारत के 20 सैनिक शहीद हो गए थे। रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीन के भी 43 सैनिक या तो मारे गए या घायल हुए। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने भी भारतीय सैनिकों की शहादत पर शोक जताया है।

डेविड स्टिलवेल पूर्वी एशिया और प्रशांत महासागर क्षेत्र के अमेरिकी सेक्रेटरी है। उनके मुताबिक, डोकलाम के बाद चीन ने लद्दाख में भी सीमा विवाद भड़काया। (फाइल)

डेविड स्टिलवेल पूर्वी एशिया और प्रशांत महासागर क्षेत्र के अमेरिकी सेक्रेटरी है। उनके मुताबिक, डोकलाम के बाद चीन ने लद्दाख में भी सीमा विवाद भड़काया। (फाइल)

The Public Side

मुंबई, 22 नवंबर, 2022- अडानी सीमेंट की सीमेंट और निर्माण सामग्री कंपनी और अडाणी समूह की कंपनी अंबुजा सीमेंट्स ने संगीत के माध्यम से भीतर छुपे कलाकार को तराशने के लिए एक टैलेंट हंट प्लेटफॉर्म ‘अंबुजा अभिमान के संगीत कलाकार’ लॉन्च किया है। कार्यक्रम के माध्यम से कंपनी ने ठेकेदार बिरादरी और उनके परिवारों के लिए म्यूजिकल टैलेंट हंट के मजेदार अनुभव को जीवंत करने का प्रयास किया है।

यह टैलेंट हंट एक अनूठी अवधारणा है, जिसका उद्देश्य पूरे देश के हितधारकों को एक साथ लाना है। यह कार्यक्रम अगस्त 2022 में शुरू किया गया था, जिसका उद्देश्य ठेकेदारों के साथ कंपनी के जुड़ाव स्तर को सक्रिय रूप से बढ़ाना था। यह ऐसे लोग हैं जो सीमेंट उद्योग के सबसे बड़े उपभोक्ता खंड ‘इंडिविजुअल हाउस बिल्डर’ (आईएचबी) सेगमेंट में एक महत्वपूर्ण हितधारक हैं।

श्री अजय कपूर, सीईओ, सीमेंट बिजनेस और अंबुजा सीमेंट्स ने कहा, ‘‘हमारे देश में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है और देश की विविधता के बीच सारी प्रतिभाएं एक साथ नजर आती हैं। ‘अंबुजा अभिमान के संगीत कलाकार’ जैसे कार्यक्रम एक ऐसा अनूठा प्लेटफॉर्म है जहां ठेकेदार और उनके परिवार अपनी प्रतिभा को निखारते और प्रदर्शित करते हैं। हमें खुशी है कि इस तरह के मंचों के माध्यम से हम लोगों के भीतर संगीत प्रतिभा की अच्छाई को तराशने में सक्षम हैं और राष्ट्रीय स्तर पर पहचान के माध्यम से उन्हें आगे बढ़ाने की कोशिश करते हैं। मैं सभी विजेताओं को बधाई देता हूं और सभी प्रतिभागियों के प्रति अपना आभार व्यक्त करता हूं।’’

19 नवंबर 2022 को 'अंबुजा अभिमान के संगीत कलाकार' ग्रैंड फिनाले के विजेताओं की घोषणा की गई। बच्चों की श्रेणी में विजेता हैं - पहला पुरस्कार: कासरगोड (केरल) से सुश्री लियाना इस्माइल पी.एच; दूसरा पुरस्कार: अहमदनगर (महाराष्ट्र) से सुश्री मैथली परदेशी; तीसरा पुरस्कार: दक्षिण 24 परगना (पश्चिम बंगाल) से सुश्री दिशारानी बेज; लोकप्रिय पुरस्कार: पाली (राजस्थान) से सुश्री नीमा चौधरी। और वयस्क वर्ग में विजेता हैं - प्रथम पुरस्कार: पुरुलिया (पश्चिम बंगाल) से श्री कुणाल सहिस; दूसरा पुरस्कार: कांगड़ा (हिमाचल प्रदेश) से श्री इशांत कुमार; तीसरा पुरस्कार: नांदेड़ (महाराष्ट्र) से श्री अजीम पठान; लोकप्रिय पुरस्कार: छत्तीसगढ़ से श्री भोला प्रसाद राठौड़।

इस कार्यक्रम के ऑडिशन राउंड में 528 प्रविष्टियां मिली थीं। जूरी ने सभी प्रविष्टियों की समीक्षा की और क्षेत्रीय सेमीफाइनलिस्ट के रूप में 55 कलाकारों को शॉर्टलिस्ट किया। इन 55 ट्रेडिंग के मौके का फायदा उठाना क्षेत्रीय सेमीफाइनलिस्टों को मेंटरिंग सेशन में भाग लेने का मौका मिला। इसके बाद, उन्होंने इन 55 क्षेत्रीय फाइनलिस्टों का एक और वीडियो प्रस्तुत किया और जूरी ने शीर्ष 12 को राष्ट्रीय फाइनलिस्ट के रूप में चुना। इन शीर्ष 12 फाइनलिस्टों को उनके अंतिम प्रदर्शन के लिए तैयार किया गया और उनका मार्गदर्शन किया गया।

इससे पहले 2020 में, कंपनी ने ठेकेदारों के लिए ‘अंबुजा अभिमान’ के नाम से एक अलग तरह का लॉन्ग टर्म लॉयल्टी प्रोग्राम लॉन्च किया था। कार्यक्रम का उद्देश्य ठेकेदारों की महत्वपूर्ण आवश्यकताओं को पूरा करना है। पिछले 2.5 वर्षों में, कंपनी ने इस कार्यक्रम के तहत 1 लाख से अधिक ठेकेदारों को नामांकित और नियुक्त किया है, जिससे हमारे व्यवसाय और ठेकेदारों की बिरादरी के साथ हमारे बंधन को मजबूत करने में मदद मिली है।

वी लेकर आया सीईटी ग्रेजुएशन एवं सीनियर सैकण्डरी परीक्षाओं हेतु राजस्थान की सरकारी नौकरियों की तैयारी के लिए अध्ययन सामग्री

राजस्थान की सरकारी नौकरियों के उम्मीदवारों के लिए लाईव क्लासेज़, मॉक टेस्ट और टेस्ट मटीरियल पेश किया

जयपुर, 22 नवम्बर, 2022: राजस्थान स्टाफ सलेक्शन बोर्ड ने 15 पदों के लिए तकरीबन 3000 उम्मीदवारों की भर्ती हेतु ग्रेजुएशन एवं सीनियर सैकण्डरी छात्रों के लिए कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट (सीईटी) की शुरूआत की घोषणा की है। इसी के मद्देनज़र देश की विभिन्न सरकारी परीक्षाओं की तैयारी में मदद कर भारत के युवाओं को सशक्त बनाने के लिए अग्रणी दूरसंचार सेवा प्रदाता वी सरकारी परीक्षा की तैयारी के अग्रणी संस्थान परीक्षा के साथ साझेदारी में वी ऐप के वी जॉब्स एण्ड एजुकेशन प्लेटफॉर्म पर सर्वश्रेष्ठ अध्यापकों की ओर से व्यापक अध्ययन सामग्री एवं लाईव वर्चुअल क्लासेज़ लेकर आया है।

राजस्थान सीईटी ग्रेजुएशन एवं सैकण्डरी स्तर की परीक्षा के पाठ्यक्रम के अनुसार टेस्ट मटीरियल पेश करने के लिए वी परीक्षा के साथ साझेदारी में निःशुल्क डेली करेंट अफेयर्स क्विज़ पेश करता है, जिसमें हाल ही में हुई परीक्षाओं के सवाल को कवर किया जाता है। इसके अलावा यह लॉजिकल रीज़निंग, भूगोल, राजस्थान के इतिहास, भारत के इतिहास, भाषा, कम्प्यूटर, विज्ञान, भारतीय अर्थशास्त्र एवं सामान्य विज्ञान पर क्यूरेटेड स्पेशल वर्चुअल क्लासेज़ एवं टेस्ट मटीरियल भी पेश करता है।

ग्रेजुएशन स्तर की सीईटी परीक्षा 6 से 9 जनवरी 2023 को होनी है। सीईटी के माध्यम से राजस्थान स्टाफ सलेक्शन बोर्ड ने विभिन्न विभागों में प्लाटून कमांडर, ज़िलादार, पटवारी, जुनियर अकाउन्टेन्ट, तहसील रेवेन्यू अकाउन्टेन्ट, सुपरवाइज़र (महिला सशक्तीकरण), सुपरवाइज़र, सब-जुनियर और हॉस्टल सुप्रीटेंडेन्ट आदि के पदों के लिए भर्तियों की योजना बनाई है।

सीनियर सैकण्डरी स्तर की सीईटी परीक्षा के उम्मीदवार विभिन्न विभागों में फॉरेस्टर, हॉस्टल सुप्रीटेन्डेन्ट, क्लर्क ग्रेड 2, जुनियर असिस्टेन्ट, ज़मादार ग्रेड-2 और कॉन्स्टेबल पदों के लिए परीक्षा दे सकते हैं। सीईटी- सीनियर सैकण्डरी लैवल का ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन 18 नवम्बर 2022 को समाप्त होगा, जबकि परीक्षा 18, 19, 25 और 26 जनवरी 2023 को होगी।

वी ऐप पर सीईटी टेस्ट मटीरियल का लाभ उठाने के लिए स्टेप-बाय-स्टेप गाईडः
वी ऐप पर जॉब सेक्शन पर क्लिक करें।
सरकारी नौकरी पर क्लिक करें।
प्रोफाइल का विवरण भरें।
परीक्षा का प्रकार चुनें।
अपनी पसंदीदा भाषा चुनें।
उस परीक्षा को चुनें, जिसके लिए आप तैयारी करना चाहते हैं।
टेस्ट मटीरियल के साथ तैयारी करना शुरू करें।
केन्द्र एवं राज्य सरकारी नौकरियों के उम्मीदवारों की मदद के लिए वी जॉब्स एण्ड एजुकेशन विभिन्न श्रेणियों जैसे स्टाफ सलेक्शन कमीशन, बैंकिंग, टीचिंग, डीफेन्स, रेलवे आदि में 150 से अधिक परीक्षाओं के अनलिमिटेड मॉक टेस्ट पेश करता है। यूज़र रु ट्रेडिंग के मौके का फायदा उठाना 249 प्रति वर्ष के मामूली सब्सक्रिप्शन पर इसका लाभ उठा सकते हैं। डेमो परीक्षा के लिए वी विभिन्न श्रेणियों में एक मुफ्त मॉक टेस्ट भी उपलब्ध कराता है।

वी के उपभोक्ता वी ऐप पर कभी भी कहीं भी वी जॉब्स एण्ड एजुकेशन प्लेटफॉर्म के माध्यम से टेस्ट मटीरियल का एक्सेस पा सकते हैं। वी ऐप पर वी जॉब्स एण्ड एजुकेशन पर भारत का सबसे बड़ा जॉब सर्च प्लेटफॉर्म ‘अपना, अग्रणी इंग्लिश लर्निंग प्लेटफॉर्म ‘एनगुरू’ और सरकारी परीक्षाओं की तैयारी के लिए ‘परीक्षा’ शामिल हैं।

रेटिंग: 4.79
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 792
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *