सीएफडी पर कमाई

व्यापार के साधन

व्यापार के साधन
नवभारत टाइम्स 5 दिन पहले

व्यापार के साधन

कर्क राशि:- आज विद्यार्थीगण प्रतियोगी परीक्षाओं की ओर अग्रसर होंगे. पारिवारिक जीवन सुखद रहेगा. स्वस्थ व खुशहाल रहेंगे. आज का दिन खुशियों की सौगात लेकर आ रहा है, आज भाग्य का आपको भरपूर साथ प्राप्त होगा. कार्यों में सफलता, मन में उत्साह, धन का लाभ, आय के नवीन साधन, रूके हुए सभी कार्य पूर्ण होंगे.

स्वास्थ्य:- स्वास्थ्य सुख उत्तम रहेगा.

व्यवसाय:- आज के दिन नौकरी करने वालों को नौकरी में पदोन्नति, व्यापारियों को व्यापार में लाभ प्राप्त होगा. मनोबल उंचा रहेगी, जिससे आपके कार्य करने की क्षमता में वृद्धि होगी.

लव:- आज प्यार में धोका मिलेगा, लव लाइफ में समस्याएं आएगी,

शिक्षा:- विद्यार्थियों को कड़ी मेहनत द्वारा लाभ प्राप्त होगा.

उपाय:- उन्नति एवं लाभ के लिए कर्क राशि वाले को आज के दिन भोलेनाथ की उपासना कर उन्हें चावल चढ़ाऐं.

क्या न करें:व्यापार के साधन - ज्यादा पाने के लालच में कोई गलत कदम न उठाएं.

किसी भी प्रकार की समस्या समाधान के लिए आचार्य पं. श्रीकान्त पटैरिया (ज्योतिष विशेषज्ञ) जी से सीधे संपर्क करें = 9131366453
Source : palpalindia ये भी पढ़ें :-

सीजेआई चंद्रचूड़ के विचार, व्यापार के साधन कानून दमन का हथियार न बने…बल्कि न्याय का साधन बना रहे…

हम जानते हैं कि कैसे औपनिवेशिक काल में वही कानून जैसा कि आज कानून की किताबों में मौजूद है, दमन के एक साधन के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है

NewDelhi : कानून दमन का साधन नहीं बने, बल्कि न्याय का साधन बना रहे. यह सुनिश्चित करना हम सभी की जिम्मेदारी बनती है. भारत के मुख्य न्यायाधीश डीवाई चंद्रचूड़ ने शनिवार को यह बात कही. जस्टिस चंद्रचूड़ हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट में बोल रहे थे. उन्होंने कहा कि नागरिक अपेक्षा रखें, यह बहुत अच्छा है, लेकिन हमें सीमाओं के साथ-साथ संस्थानों के रूप में अदालतों की क्षमता को भी समझना चाहिए

कानून उत्पीड़न का भी एक साधन हो सकता है!

जस्टिस चंद्रचूड़ का मानना है कि कभी-कभी कानून और न्याय एक ही ट्रैजेक्टरी का पालन नहीं करते. कानून न्याय का एक साधन हो सकता है लेकिन कानून उत्पीड़न का भी एक साधन हो सकता है. हम जानते हैं कि कैसे औपनिवेशिक काल में वही कानून जैसा कि आज कानून की किताबों में मौजूद है, दमन के एक साधन के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है. हम नागरिकों के रूप में यह कैसे सुनिश्चित करें कि कानून न्याय का साधन बने और कानून उत्पीड़न का साधन न बने?

लगातार को पढ़ने और बेहतर अनुभव के लिए डाउनलोड करें एंड्रॉयड ऐप। ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे

हमारे सिस्टम में अनसुनी आवाजों को सुनने की क्षमता है

इसस क्रम में CJI ने कहा, आपके पास अपने सिस्टम में अनसुनी आवाजों को सुनने की क्षमता व्यापार के साधन है, सिस्टम में अनदेखे चेहरों को देखने की क्षमता है, तो फिर देखें कि कानून और न्याय के बीच संतुलन कहां है, तो आप वास्तव में एक न्यायाधीश के रूप में अपना मिशन पूरा कर सकते हैं. सोशल मीडिया का जिक्र करते हुए CJI ने कहा कि इसने सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक को पेश किया है क्योंकि एक जज द्वारा कोर्ट रूम में कहे जाने वाले हर छोटे शब्द की रीयल-टाइम रिपोर्टिंग होती है और एक जज के रूप में आपका लगातार मूल्यांकन किया जाता है.

न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ ने कहा कि हम इंटरनेट और सोशल मीडिया के युग में रहते हैं जो यहां रहने के लिए है मेरा मानना है कि हमें फैशन, री-इंजीनियरिंग, नये समाधान खोजने, फिर से प्रशिक्षित करने, फिर से तैयार करने, यह समझने की कोशिश में अपनी भूमिका पर पुनर्विचार करने की आवश्यकता है कि हम जिस उम्र में रह रहे हैं, उसकी चुनौतियों का सामना कैसे करते हैं.

Grah Gochar November 2022: कल से खत्म होगा इन लोगों का संघर्ष भरा समय, करियर-व्यापार में मिलेगी बेशुमार तरक्की

Planet Transit In November 2022: वैदिक ज्योतिष के अनुसार एक निश्चित समय के बाद ग्रह गोचर करते हैं. नवंबर में कई ग्रह अपना राशि परिवर्तन कर रहे हैं. ऐसे में ग्रह गोचर का प्रभाव सभी राशियों के जातकों पर दिखेगा, लेकिन कुछ राशि के जातकों को इस दौरान विशेष लाभ होने वाला है.

alt

4

alt

5

alt

5

alt

5

Grah Gochar November 2022: कल से खत्म होगा इन लोगों का संघर्ष भरा समय, करियर-व्यापार में मिलेगी बेशुमार तरक्की

Grah Gochar Effect On Zodiac Sign: ग्रह-नक्षत्रों की चाल का प्रभाव व्यक्ति के जीवन पर साफ देखा जा सकता है. हर ग्रह एक निश्चित समय के बाद अपना स्थान परिवर्तन करता है. नवंबर में 5 बड़े ग्रह अपनी मौजूदा राशि व्यापार के साधन से निकलकर दूसरी राशि में प्रवेश करने जा रहे हैं. 11 नवंबर को जहां शुक्र ग्रह राशि परिवर्तन करेंगे. वहीं, 13 नवंबर को ग्रहों के सेनापति मंगल ग्रह और बुध ग्रह भी दूसरी राशि में प्रवेश कर जाएंगे.

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार 16 नवंबर को ग्रहों के राजा सूर्य भी वृश्चिक राशि में प्रवेश कर जाएंगे. 23 नवंबर को देवगुरु बृहस्पति भी अपनी राशि में मार्गी होंगे. नवंबर में ग्रहों की ये बड़ी उथल-पुथल वैसे तो सभी राशियों के जातकों के जीवन पर प्रभाव डालेगी. लेकिन कुछ राशि के जातकों को इसका विशेष लाभ होगा. आइए जानें ये माह किन राशि वालों के लिए बेहद लाभदायक रहने वाला है.

तुला राशि- नवंबर के पांच ग्रहों के राशि परिवर्तन से तुला राशि के जातकों को खास लाभ होने वाला है. इस दौरान इन्हें शुभ फलों की प्राप्ति होगी. शुक्र के गोचर से इस राशि के जातकों की किस्मत पूरी तरह पलट जाएगी. इस दौरान विदेश यात्रा के योग बन रहे हैं. आर्थिक स्थिति में सुधार होगा और लंबे समय से अटके हुए काम भी जल्द पूरे हो जाएंगे.

मकर राशि- ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मकर राशि के जातकों के लिए भी ये माह लकी रहने वाला है. पांच ग्रहों का स्थान परिवर्तन जीवन पर खासा प्रभाव डालेगा. इस दौरान इन लोगों को शुभ फलों की प्राप्ति होगी. इतना ही नहीं, नौकरी का प्रस्ताव भी इस दौरान मिल सकता है. मकर राशि के लोगों को अच्छा समय बिताने का मौका मिलेगा. व्यापारियों को लाभ मिलेगा. इस दौरान निवेश करना लाभकारी रहेगा.

कुंभ राशि- ज्योतिषीयों का कहना है कि कुंभ राशि वालों के लिए भी ये समय बेहद अनुकूल रहने वाला है. ग्रहों के चाल में बदलाव इनके जीवन में खुशियां ला सकती हैं. इस दौरान आपको धन लाभ के योग बनेंगे. इतना ही नहीं, आय के नए साधन बनेंगे. कारोबार में विस्तार होने की संभावना है. वहीं, इस दौरान नौकरी पेशा करने वाले जातकों को पदोन्नति मिल सकती है.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. ZEE NEWS इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

रूस और चीन जैसे दुश्मन बनाने वाला अमेरिका भारत से बढ़ा रहा दोस्ती, जरूरत या मजबूरी. क्या है 'फ्रेंड शोरिंग' एजेंडा?

नवभारत टाइम्स लोगो

नवभारत टाइम्स 5 दिन पहले

वॉशिंगटन :

अमेरिका की वित्त मंत्री जेनेट एल येलेन भारत का आधिकारिक यात्रा पर हैं। शुक्रवार को उन्होंने कहा कि भारत अमेरिका के लिए एक प्रमुख भागीदार है। अमेरिकी-भारत व्यापार और निवेश कार्यक्रम में व्यापार के साधन येलेन ने कहा कि साझा वैश्विक प्राथमिकताओं को हासिल करने को लेकर अमेरिका जी-20 में भारत की अध्यक्षता का समर्थन करने के लिये उत्सुक है। अमेरिकी ग्लोबल सप्लाई चेन को विरोधियों के प्रभाव से बचाने की अपनी महत्वाकांक्षा के केंद्र में भारत को रख रहा है। दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था के साथ संबंधों को मजबूत करना अमेरिका की मजबूरी है।

एक तरफ चीन के साथ उसका तनाव पहले से चरम पर है और दूसरी ओर रूस-यूक्रेन युद्ध ने पूरी दुनिया के व्यापारिक ढांचे के प्रभावित किया है। बाइडन प्रशासन में महत्वपूर्ण भूमिका रखने वाली जेनेट एल येलेन ऐसे समय पर भारत आई हैं जब पूरी दुनिया गंभीर आर्थिक चुनौतियों का सामना कर रही है। करीब नौ महीने से जारी रूस और यूक्रेन युद्ध खाद्य पदार्थों और ऊर्जा कीमतों में एक बड़ी उछाल के लिए जिम्मेदार है।

भारत को प्रमुख आर्थिक भागीदार बनाना चाहता है अमेरिका

चीनी उत्पादों पर अमेरिका की निर्भरता को लेकर बढ़ी हुई चिंताओं की वजह से वॉशिंगटन वैश्विक आर्थिक व्यवस्था को फिर से आकार देने की कोशिश कर रहा है ताकि उसके सहयोगी अपनी अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए एक-दूसरे की चीजों पर निर्भर रहें। भारत अक्सर अमेरिका, चीन और रूस के बीच भू-राजनीतिक टकराव के मध्य में रहता है। लेकिन बाइडन प्रशासन अपने 'Friend-Shoring' एजेंडा के तहत वह भारत को अमेरिका के प्रमुख आर्थिक सहयोगियों में देखना चाहता है।

दोस्त और दुश्मन में फर्क बताएगा फ्रेंड-शोरिंग एजेंडा

येलेन ने शुक्रवार को उन देशों से दूर जाने को लेकर बात की जो अमेरिका की सप्लाई चेन को अस्थिर कर सकते हैं। जाहिर है चीन और रूस उनके दिमाग में सबसे ऊपर होंगे। नोएडा स्थित माइक्रोसॉफ्ट के रिसर्च एंड डेवलेपमेंट कैंप के दौरे के बाद येलेन ने कहा, 'अमेरिका उन देशों को अलग करने के लिए 'फ्रेंड-शोरिंग' नामक दृष्टिकोण का पालन कर रहा है जो हमारी सप्लाई-चेन के लिए भू-राजनीतिक और सुरक्षा जोखिम के कारण बन सकते हैं।'

क्या है अमेरिका का 'फ्रेंड शोरिंग' एजेंडा?

उन्होंने कहा कि ऐसा करने के लिए हम भारत जैसे भरोसेमंद व्यापारिक भागीदारों के साथ सक्रिय रूप से आर्थिक संबंध को मजबूत कर रहे हैं। सवाल यह है कि अमेरिका का 'फ्रेंड-शोरिंग' एजेंडा क्या है? फ्रेंड-शोरिंग अमेरिका के लिए अपनी सोर्सिंग और निर्माण साइटों को एक से दूसरे तट पर ले जाने के लिए देशों को प्रभावित करने का एक व्यापार के साधन व्यापार के साधन साधन बन गया है। इसका उद्देश्य चीन जैसे 'कम समान विचारधारा' वाले देशों से अपनी सप्लाई चेन को बचाना है।

व्यापार के साधन

Business hour

कोचिन पोर्ट लाइफ लाइन
1800 425 9966

हमारा अनुसरण इस पर कीजिये

Cochin port twitter

Facebook

Instagram

कार्गो सेवाएँ

1.कार्गो की आयात/निर्यात प्रक्रिया

आयातक/निर्यातक कोचिन पोर्ट के माध्यम से विभिन्न प्रकार के कार्गो का आयात/निर्यात कर सकते हैं। कोचिन पोर्ट के माध्यम से आयात/निर्यात किए जा सकने वाले कार्गो का विवरण विदेश व्यापार प्रक्रिया 2008-09 में विदेश व्यापार महानिदेशक द्वारा प्रकाशित किया गया है। अधिक जानकारी के लिए कृपया http://dgft.delhi.nic.in and www.cbec.gov.in का अवलोकन करें।

(ए) आयात दस्तावेज़

(1) सीमा शुल्क द्वारा अनुमोदित सामान्य घोषणापत्र आयात करें।
(2) कार्गो हाउस एजेंट्स के माध्यम से दाखिल किए जाने वाले कार्गो शुल्क के साथ बिल की प्रविष्टि।
(3) प्रभार प्रमाणपत्र से परे सीमा शुल्क।
(4) कार्गो के स्वामित्व के लिए स्टीमर एजेंट डिलीवरी ऑर्डर/बिल ऑफ लेडिंग।

(बी) निर्यात दस्तावेज

(1) सीमाशुल्क द्वारा स्वीकृत शिपिंग बिल।
(2) सीमाशुल्क हाउस एजेंट के माध्यम से कार्गो शुल्क।
(3) सीमाशुल्क निर्दिष्ट शिपिंग के लिए निर्यात आदेश दें।
सभी दस्तावेज पोर्ट कम्युनिटी सिस्टम और सीमा शुल्क प्रणाली के माध्यम से ऑनलाइन जमा किए जाने हैं।

2. व्यक्तिगत सामान निकासी
कोचिन पोर्ट के पास कंटेनरों में प्राप्त निजी सामानों के हस्तन की सुविधा है। कंटेनर को क्यू6 शेड में उतारा जाएगा और क्यू6 शेड में सीमा शुल्क कार्यालय द्वारा माल की जांच और निकासी की जाएगी। ग्राहकों को कस्टम हाउस एजेंट के माध्यम से या स्वयं द्वारा सीमा शुल्क और पोर्ट के लिए आवश्यक दस्तावेज जमा करने होते हैं।
आयातक सबसे पहले कार्गो शुल्क और पोर्ट को डिलीवरी ऑर्डर के साथ बिल ऑफ लेडिंग की प्रति प्रस्तुत करेंगे। सीमा शुल्क परीक्षा के लिए पोर्ट से मूल्यांकन टिकट जारी किया जाएगा। सीमाशुल्क की मंजूरी के बाद आयातक सामान की डिलीवरी लेने के लिए सामान घोषणा में मुहर के साथ सीमा शुल्क जमा करेंगे।

3.कंटेनर फ्रेट स्टेशन(सीएफएस) सुविधाएँ एवं परिचालन
कोचिन पोर्ट में यंत्रीकृत भराई और उतराई सेवा के साथ एक पूर्ण कंटेनर फ्रेट स्टेशन है। सीएफएस में व्यापार के साधन एलसीएल और एफसीएल कार्गो दोनों की भराई व उतराई की सुविधा है।हर कार्यदिवस सुबह 6 से रात 10 बजे तक सीएफएस का संचालन होता है। ऑन-व्हील स्टफिंग प्रदान की जाती है। रो-रो जेटी सीएफएस के आसपास के क्षेत्र में स्थित है। सीआईएसएफ द्वारा सुरक्षा प्रदान की जा रही है। पैलेटाइजिंग के लिए सुविधाएं भी उपलब्ध हैं।

4. आईएमओ श्रेणी-I कार्गो
कोचिन पोर्ट में आईएमओ श्रेणी- I कार्गो हस्तन की प्रक्रिया देखने के लिए कृपया नीचे क्लिक करें। इस प्रक्रिया को मुख्य विस्फोटक नियंत्रक द्वारा अनुमोदित किया गया है।

5. लो-लो/रो-रो टर्मिनल
कोचिन पोर्ट ने विल्लिंगडन आईलैण्ड और आईसीटीटी वल्लारपाडम के बीच कंटेनरों के परिवहन के लिए एक लो-लो/रो-रो टर्मिनल स्थापित किया है। इस सुविधा के साथ बहुत कम लागत पर पोर्ट सीएफएस एवं आईसीटीटी से कंटेनर आसानी से ले जाया जा सकता है।

6. बंकरिंग
सभी बर्थों पर बंकर की आपूर्ति बार्ज/ट्रकों/पाइपलाइन से की जा सकती है। सभी प्रमुख तेल कंपनियां आपूर्ति करती हैं जो एजेंटों के माध्यम से व्यवस्थित होती हैं।

7. पाइप लाइन नेटवर्क
पामोलीन, सीएनएसएल (काजू नट शेल तरल) और रसायन जैसे तरल कार्गो के हस्तन के लिए एससीबी और एनसीबी में अलग पाइपलाइनें। कच्चे तेल और पेट्रोलियम उत्पादों के हस्तन के लिए टैंकर बर्थ पर पाइपलाइन उपलब्ध हैं। क्वू5 पर, कार्बन ब्लैक फीड स्टॉक (सीबीएफएस) के हस्तन के लिए पाइपलाइन बिछाई गई हैं। एनसीबी में लचीले होज़ टैंकर बर्थ उपयोग के लिए उपलब्ध हैं।

8. वार्फ सूचना केन्द्र
एरणाकुलम वार्फ एवं मट्टांचेरी वार्फ के समुद्री नियंत्रण में चौबीसो घण्टे शिपिंग नियंत्रण कक्ष काम कर रहे हैं। पोत की आवाजाही और कार्गो संचालन के बारे में किसी भी जानकारी के लिए उपयोगकर्ता इन नियंत्रण कक्षों से संपर्क कर सकते हैं। संपर्क नं.इस प्रकार है

रेटिंग: 4.27
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 429
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *