प्रमुख भारतीय स्टॉक एक्सचेंज

शेयरों में निवेश शुरू करना चाहते हैं

शेयरों में निवेश शुरू करना चाहते हैं

न्यूनतम राशि शेयर बाजार में निवेश करने के लिए?

भारत में शेयर बाजार में निवेश शुरू करने के लिए आवश्यक न्यूनतम राशि क्या है? यह एक सामान्य प्रश्न है जो अक्सर नए निवेशकों द्वारा पूछा जाता है. इस पोस्ट में आप इसी सवाल का जवाब जानेंगे की शेयर बाजार में निवेश करने के लिए न्यूनतम राशि क्या है?

Table of Contents

न्यूनतम राशि शेयर बाजार में निवेश करने के लिए?

इसका उत्तर सरल है: भारतीय शेयर बाजार में निवेश शुरू करने की कोई न्यूनतम सीमा नहीं है. स्टॉक की कीमत को कवर करने के लिए आपके पास बस पर्याप्त पूंजी होनी चाहिए. इसलिए, आपको भारत में Trading शुरू करने के लिए बड़ी राशि की आवश्यकता नहीं है, 50 रुपये से भी कम कीमत में स्टॉक खरीदना संभव.

स्टॉक मार्किट में ऐसी कई कम्पनियाँ हैं जिनकी एक स्टॉक की कीमत 2000 रुपये से भी अधिक है और ऐसी भी कंपनियां है जिनके एक स्टॉक की कीमत 20 रुपये भी है. इसलिए शेयर बाजार में निवेश करने की न्यूतम राशि बहुत ही कम है.

शेयर बाजार में निवेश कैसे करें?

आप स्टॉक ट्रेडिंग के माध्यम से बहुत सारा पैसा कमा सकते हैं. लेकिन आप बाजार की बारीकियों से रूबरू हुए बिना अव्यवस्थित ढंग से निवेश करके बड़ा नुकसान कर सकते हैं. इसलिए, शेयर बाजार में सही तरीके से निवेश करना महत्वपूर्ण है.

शेयर मार्किट में निवेश करने से पहले निचे बताये गए नियमों का पालन करें:

कितना निवेश करें: शेयर बाजार में व्यापार करने के लिए आपको कोई न्यूनतम राशि नहीं चाहिए. भारत में दो मुख्य स्टॉक एक्सचेंज हैं- बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE). एक स्टॉक की कीमतें 1 रुपये से 75,000 रुपये के बीच होती हैं. आप किसी भी स्टॉक को किसी भी मात्रा में खरीद सकते हैं.

निवेश कैसे करें: आप सीधे स्टॉक एक्सचेंज में जाकर ट्रेडिंग नहीं कर सकते हैं. इसलिए ट्रेडिंग या इन्वेस्ट करने के लिए डीमैट खाता खोलें और एक ट्रेडर के माध्यम से काम करें. ब्रोकरेज Fees के बदले ट्रेडर आपकी ओर से स्टॉक खरीदेगा और बेचेगा.

शोध: शेयरों में निवेश करने से पहले आपको कुछ शोध करना चाहिए. इससे आपको शेयर बाजार में लाभदायक निवेश करने में मदद मिलेगी.

जैसा कि उल्लेख किया गया है, आप केवल 10 रुपये के साथ स्टॉक ट्रेडिंग शुरू कर सकते हैं. लेकिन अगर आप नौसिखिया हैं तो आप 5 से 10 हज़ार रूपये से शेयर मार्किट में इन्वेस्ट करने की शुरुआत कर सकते हैं. बाजार को जानने और अधिक आत्मविश्वास हासिल करने के बाद, आप धीरे-धीरे राशि बढ़ा सकते हैं.

हमें आशा है की यह पोस्ट पढ़ने के बाद आप समझ गए होंगे की न्यूनतम राशि शेयर बाजार में निवेश करने के लिए कितनी है. खुद से रिसर्च करें और शेयर मार्किट शेयरों में निवेश शुरू करना चाहते हैं में निवेश शुरु करें.

विकास तिवारी इस ब्लॉग के मुख्य लेखक हैं. इन्होनें कम्प्यूटर साइंस से Engineering किया है और इन्हें Technology, Computer और Mobile के बारे में Knowledge शेयर करना काफी अच्छा लगता है.

मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान आपकी निवेश यात्रा के लिए आपका गो-टू गाइड

दीवाली एक नई शुरुआत है। यह एक शुभ दिन माना जाता शेयरों में निवेश शुरू करना चाहते हैं है, जो बहुत सारी सकारात्मकता, खुशी और सफलता लाता है। व्यवसायों (Businesses) और निवेशकों ने मुहूर्त ट्रेडिंग सेशन के लिए तैयारी शुरू कर दी है। अगर आप चूकना नहीं चाहते हैं, तो यह ट्रेडिंग सेशन आपकी निवेश यात्रा को शुरू करने का एक रोमांचक अवसर है, क्योंकि इसे भाग्यशाली माना जाता है। और चिंता न करें, हम आपके लिए वह सारी जानकारियां लेकर आए हैं, जिन्हें जानना आपके लिए जरूरी है। आइए सबसे पहले मुहूर्त ट्रेडिंग का अर्थ समझते हैं।

Table of Contents

इस लेख में शामिल हैं:

मुहूर्त ट्रेडिंग क्या है?

मुहूर्त ट्रेडिंग दीवाली के दिन एक घंटे के सेशन को दर्शाती है और इसे निवेश के लिए शुभ माना जाता है।इस बार यह 4 नवंबर 2021 को शाम 6:15 बजे से शाम 7:15 बजे तक है । ऐसा माना जाता है कि यदि आप इस समय के दौरान निवेश करते हैं, तो पूरे वर्ष धन के बढ़ने की संभावना अधिक होती है। अच्छा, क्या यह आपको दिलचस्प नहीं लगा? गौरतलब है कि यह केवल भारतीय शेयर बाजार के बारे में सच है।

अब जब आपको मुहूर्त ट्रेडिंग की बुनियादी समझ हो गई है, तो आइए निवेश के इस उपयोगी समय के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करें।

मुहूर्त ट्रेडिंग भाग्यशाली क्यों है?

इस ट्रेडिंग सेशन को भाग्यशाली माना जाता है क्योंकि देश भर के निवेशक इस एक घंटे की अवधि में, दीवाली जैसे त्योहार के दौरान पैसा निवेश करने की आस्था से प्रेरित होते हैं। यह बहुत समय पहले हि एक परंपरा बन गई थी क्योंकि व्यापारी धन की देवी लक्ष्मी जी को अपनी शुभकामनाएं देकर एक नए सेशन की शुरुआत करते थे।

मुहूर्त ट्रेडिंग तब होती है जब लोग दीवाली के दिन सामूहिक सद्भावना साझा करने के लिए एक साथ आते हैं। शेयर बाजार में नए खिलाड़ी धमाकेदार एंट्री करते हैं। हर निवेशक की निगाहें बाजार में होने वाले घटनाक्रम पर होती हैं, एक् उम्मीद में कि इस दौरान निवेश करने से उन्हें मुनाफा होगा। हालांकि, हमेशा की तरह, आपको निवेश करते समय सावधान रहना चाहिए। दीवाली के रुझानों का आँख बंद करके पालन करने के बजाय, जो कि केवल अटकलें हो सकती हैं, अपना शोध करना और उसके अनुसार निवेश करना सबसे बेहतर होता है।

मुहूर्त ट्रेडिंग में अपनी निवेश यात्रा कैसे शुरू करें?

आरंभ करने में आपकी सहायता करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

चरण 1: एक डीमैट खाता खोलें। यह आपके द्वारा खरीदे गए शेयरों को इलेक्ट्रॉनिक रूप से संग्रहीत करता है।

चरण 2: अपने बैंक खाते से अपने डीमैट खाते में धनराशि जोड़ें।

चरण 3: जिन शेयरों में आप निवेश करना चाहते हैं, उन पर थोड़ा शोध करें। इसमें स्टॉक की अतीत की कीमतों को देखना, कंपनी के वित्तीय विवरणों का विश्लेषण करना, तुलना करना और बहुत कुछ शामिल होता है। इस तक आसान पहुंच के लिए, आप टिकरटेप पर जा सकते हैं। सुनिश्चित करें कि आप मजबूत फंडामेंटल वाले शेयरों को चुनें ताकि वे लंबे समय में बाजार में गिरावट का सामना कर सकें और अच्छा रिटर्न दे सकें।

चरण 4: अपने शोध के बाद, आप शेयरों में निवेश शुरू करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

मुहूर्त ट्रेडिंग से पहले कुछ् ध्यान रखने योग्य बातें

ट्रेडिंग से पहले कुछ पहलुओं को ध्यान में रखा जाना चाहिए, जो इस प्रकार हैं:

  • सभी खुली पोजीशनें सेशन के शेयरों में निवेश शुरू करना चाहते हैं अंत में सेटलमेंट ऑब्लिगेशन (Settlement Obligations) के रूप में होंगी।
  • मुहूर्त ट्रेडिंग सत्र के लिए, बाजार केवल एक घंटे के लिए खुला रहेगा।
  • इस सेशन के दौरान बाजार अस्थिर हो सकता है इसिलिये बाजार पर नजर रखें ताकि आप समझदारी से निर्णय ले सकें।
  • लंबी अवधि के लिए किसी शेयर में निवेश करने से पहले सुनिश्चित करें कि आप कंपनी के मूल सिद्धांतों पर बरकरार हैं। पिछले मुहूर्त ट्रेडिंग सेशनों में यह देखा गया है कि सेशन के दौरान उत्साह के कारण अफवाहें तेजी से फैलती हैं।
  • यदि आप बाजार में उतार-चढ़ाव को भुनाने की योजना बना रहे हैं, तो ऐसे शेयरों का चयन करना सुनिश्चित करें, जिनमें ट्रेडिंग वॉल्यूम अच्छा हो।

निष्कर्ष

जैसा कि इस लेख में बताया गया है, मुहूर्त ट्रेडिंग व्यापारियों और निवेशकों के लिए एक शुभ समय है। हालाँकि, अपने साथियों या बाज़ार के रुझानों का आँख बंद करके अनुसरण न करें। एक घंटे का ट्रेडिंग सेशन जल्द ही आ रहा है। इसलिए अपने वांछित शेयरों पर शोध करके, उनके मूल सिद्धांतों का अध्ययन करके और उन्हें ट्रैक करने के लिए अपनी वॉचलिस्ट में स्टॉक जोड़कर पहले से अच्छी तैयारी करें । टिकरटेप पर पेश किए गए फिल्टर और आपके लिए सबसे उपयुक्त मेट्रिक्स के आधार पर स्क्रीन स्टॉक का उपयोग करें। #dimaaglaganekamuhurat आ रहा है! आपका निवेश शुभ हो!

शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले 8 जानने योग्य जरुरी बातें |

हालांकि यह जरुरी नहीं है की जिसने शेयर मार्किट में निवेश कर लिया उसका कमाई करना निश्चित है सच्चाई यह है की जानकारी के अभाव एवं निवेश करने के सही तरीकों के अभाव में निवेशक का पैसा शेयर मार्किट मे डूब भी सकता है | इसलिए कमाई टिप्स की उपश्रेणी शेयर मार्केट में आज का हमारा विषय ऐसी बातों को जानने का होगा जिसे किसी भी निवेशक को शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले जानना बेहद जरुरी होता है |

must-know-things-before-invest-in-share-market-

1.शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले अपने रिस्क प्रोफाइल का आकलन करें?

शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले निवेशक को सबसे पहले अपना रिस्क प्रोफाइल निश्चित करना होगा अर्थात निवेशक को यह तय करना होगा की वह निवेश के मामले में कितना जोखिम उठा सकता है | निवेशक का निवेश उसके रिस्क प्रोफाइल के मुताबिक़ होना ही बेहद जरुरी होता है | किसी भी निवेशक का रिस्क प्रोफाइल उसकी उम्र, उसकी निजी जिम्मेदारियों, सरप्लस आमदनी अर्थात बचत एवं उसकी आर्थिक एवं पारिवारिक हालात पर निर्भर करता है शेयरों में निवेश शुरू करना चाहते हैं शेयरों में निवेश शुरू करना चाहते हैं |

कहने का आशय यह है की 25 वर्ष का एक नौकरीपेशा नवयुवक एक 55 साल के नौकरीपेशा व्यक्ति से कहीं अधिक जोखिम उठाने का सामर्थ्य रख सकता है क्योंकि 55 साल के नौकरीपेशा व्यक्ति की तुलना में नवयुवक पर जिम्मेदारियां बहुत कम होंगी |

शेयर बाजार में निवेश के फार्मूले की बात करें तो वह यही है की जो निवेशक जितना जोखिम उठा सकता है वह उतने ही लाभ की कमाई भी कर सकता है | इसलिए ध्यान रहे यदि निवेशक में जोखिम उठाने का सामर्थ्य न हो तो उसे बांड, फिक्स्ड डिपाजिट, पब्लिक प्रोविडेंट फण्ड, पोस्ट ऑफिस बचत योजना इत्यादि में निवेश करना चाहिए |

2. शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले सोच बदलें:

शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले बहुत सारे लोग सोचते हैं की निवेश तो वे कर लेते लेकिन अब बहुत देर हो चुकी है ऐसे लोगों को बता देना चाहेंगे की उन्हें अपनी इस प्रकार की सोच को बदलना होगा | क्योंकि सच्चाई यह है की बाजार में निवेश करने के लिए कभी देर नहीं होती है, व्यक्ति किसी भी उम्र में शेयर बाजार में निवेश कर सकता है |

हाँ यह सत्य है की 22-30 वर्ष की उम्र में व्यक्ति पर जिम्मेदारियों का बोझ कम होता है या होता ही नहीं है इसलिए इस उम्र में कमाई का एक बड़ा हिस्सा शेयर बाजार में लगाया जा सकता है | लेकिन यदि किसी निवेशक की उम्र 50 वर्ष भी है तो भी व्यक्ति अपने रिस्क प्रोफाइल का आकलन करके शेयर बाजार में निवेश करके कमाई कर सकता है |

3. शेयर मार्केट में निवेश से पहले रिसर्च अवश्य कर लें :

शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले थोड़ा बहुत रिसर्च करना बेहद जरुरी होता है | यह रिसर्च विभिन्न मुद्दों जैसे निवेशक की निजी स्थिति जैसे रिस्क प्रोफाइल, आय इत्यादि एवं निवेशक शेयरों में कैसे निवेश करना चाहता है आदि पर निर्भर होनी चाहिए |

ध्यान रहे चूँकि अलग अलग कंपनियों की अपनी अलग अलग खूबियाँ एवं खामियां होती हैं इसलिए निवेश करने से पहले रिसर्च जरुरी होती है | इसके लिए निवेशक को कंपनी के वार्षिक एवं तिमाही नतीजे, कैश फ्लो, मार्केट कैप, पिछले साल के अंतर्गत कंपनी की माली हालात, बाजार में उसका प्रदर्शन इत्यादि बातों से जुड़ी जानकारी जुटाकर उनका अध्यन कर लेना सही होता है |

4. अपने आप को तैयार करना:

शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले निवेशक को चाहिए की वह अपने आप को बुरा झेलने के लिए भी तैयार रखे क्योंकि शेयर बाजार में निवेश करने के बावजूद भी यह दावा नहीं किया जा सकता की निवेशक की लाभ के रूप में ही कमाई होगी बल्कि निवेशक का निष्कर्ष गलत भी साबित हो सकता है | इसलिए निवेशक को अपने आप को बुरा भला सब झेलने के लिए तैयार रखना चाहिए |

5. निवेश के लिए अपने फैसले खुद लें:

शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले उस क्षेत्र से सम्बंधित दूसरे लोगों से सलाह अवश्य लीजिये, लेकिन ध्यान शेयरों में निवेश शुरू करना चाहते हैं रहे उस सलाह को मानना या न मानने का निर्णय सिर्फ आपका होना चाहिए |

अक्सर जब निवेशक शेयर बाजार में निवेश करना शुरू कर देता है तो उसकी रूचि एवं दिलचस्पी उसमे बढती जाती है | और जब कुछ लोग दोस्त एक साथ मिलकर बैठे होते हैं तो शेयर मार्केट चर्चा का विषय बन जाता है, ऐसी चर्चाओं से मिले किसी भी टिप्स को सीधे अमल पर लाने की बजाय निवेशक को अपनी स्टडी एवं विवेक के अनुसार फैसला लेना चाहिए |

6. निवेश करने से पहले वैल्यू स्टॉक या ग्रोथ स्टॉक की जानकारी होना है जरुरी:

शेयर बाजार में सामान्यतया निवेशकों में दो तरह के स्टॉक काफी लोकप्रिय हैं | जो निवेशक तत्काल प्रॉफिट की चाह में शेयर मार्केट में निवेश करना चाहते हैं वे वैल्यू स्टॉक में पैसा लगाते हैं |

और ऐसे निवेशक जो भविष्य में अच्छा लाभ अर्जित करने की अपेक्षा रखते हैं वे ग्रोथ स्टॉक में पैसा लगाते हैं | इसलिए शेयर बाजार में निवेश करने से पहले निवेशक को इनकी जानकारी होना बेहद जरुरी है ताकि वह जोखिम को संतुलित करते हुए दोनों तरह के स्टॉक में निवेश करने में समर्थ हो पाय |

7. निवेशक निवेश क्यों करना चाहता है

शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले निवेशक को अपने आप से एक सवाल पूछना चाहिए की वह शेयर बाजार में क्यों निवेश करना चाहता है? क्योंकि कुछ निवेशक अपनी कमाई बढ़ाने के लिए, कुछ लोग अतिरिक्त पैसों को ठिकाने लगाने के लिए, कुछ निवेशक जल्दी सेवानिवृत्ति पाने के उद्देश्य से, कुछ निवेशक सेवानिवृत्ति के बाद अच्छी आर्थिक स्थिति सुनिश्चित करने के उद्देश्य से भी निवेश करना चाहते हैं |

इसलिए यदि निवेशक को एक बार यह पता चल गया की वह किस उद्देश्य से निवेश करना चाहता है तो वह निवेश का सही विकल्प चुन सकता है |

8. शेयर मार्केट में निवेश से पहले बचत और निवेश का आकलन:

ध्यान रहे मनुष्य की कमाई में से सारे खर्चों को निकालकर जो धन शेष रहता है वह भाग बचत कहलाता है | और इस धन के बचे हुए भाग अर्थात बचत को अच्छे लाभ की कमाई के उद्देश्य से प्रयोग में लाना निवेश कहलाता है | इसलिए निवेशक को शेयर बाजार में निवेश करने से पहले इसका आकलन जरुर कर लेना चाहिए क्योंकि कमाई एवं बचत का अनुपात ही निवेशक को यह बताता है की निवेशक को शेयर मार्केट में कितना निवेश करना है |

अन्य सम्बंधित लेख:

इनका नाम महेंद्र रावत है। इनकी रूचि बिजनेस, फाइनेंस, करियर जैसे विषयों पर लेख लिखना रही है। इन विषयों पर अब तक ये विभिन्न वेबसाइटो एवं पत्रिकाओं के लिए, पिछले 7 शेयरों में निवेश शुरू करना चाहते हैं वर्षों में 1000 से ज्यादा लेख लिख चुके हैं। इनके द्वारा लिखे हुए कंटेंट को सपोर्ट करने के लिए इनके सोशल मीडिया हैंडल से अवश्य जुड़ें।

Sankarsh Chanda : 17 साल में शेयर बाजार में निवेश शुरू किया, 23 साल में 100 करोड़ के मालिक, जानें पूरी कहानी

Sankarsh Chanda,

इनका नाम है संकर्ष चंदा। ये हैदराबाद के रहने वाले हैं। संकर्ष ने सिर्फ 17 साल की उम्र से ही शेयर बाजार में निवेश करना शुरू कर दिया था। संकर्ष एक फिनटेक स्टार्टअप सावर्ट (Sankarsh Chanda) के संस्थापक हैं, जो लोगों को स्टॉक, म्यूचुअल फंड और बॉन्ड में निवेश करने में मदद करता है।

बीच में छोड़ी पढ़ाई, बनाई कंपनी-

संकर्ष के संस्थापक हैं, संकर्ष ने 2017 में बेनेट युनिवर्सिटी (ग्रेटर नोएडा) ड्राप करने के बाद सिर्फ 8 लाख रुपए निवेश कर फिनटेक स्टार्टअप सावर्ट कंपनी की शुरुआत (Sankarsh Chanda) की।

संकर्ष बीटेक कंप्यूटर साइंस के छात्र थे। स्टॉक मार्केट में समय देने के लिए उन्होंने अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी। उन्होंने 35 लोगों के साथ काम की शुरुआत की। संकर्ष ने हैदराबाद के एक स्कूल से 12 वीं पास करने के बाद 2016 में शेयर बाजार में पैसा लगाना शुरू किया था। उन्होंने महज 2,000 रुपए से शुरुआत की और अगले दो वर्षों में और अधिक पैसा लगाया।

संकर्ष ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उन्होंने दो साल में लगभग 1.5 लाख रुपए निवेश किया। शेयरों का मार्केट मूल्य दो साल में करीब 13 लाख रुपए हो गया था।

2017 में उन्होंने अपनी कंपनी शुरू करने के लिए 8 लाख रुपए के शेयर बेच दिए. बाकी पैसा बाजार में इन्वेस्ट करने के लिए रखा। उन्होंने स्टार्टअप के माध्यम से होने वाले मुनाफे को निवेश करना जारी रखा।

जिसके बाद बहुत मुनाफा हुआ। संकर्ष ने कहा मेरी कुल संपत्ति अब 100 करोड़ रुपए है। यह सिर्फ मेरा शेयर बाजार निवेश नहीं है, बल्कि मेरी कंपनी के मूल्यांकन पर भी डिपेंड करता है।

संकर्ष कहते हैं कि अमेरिकी अर्थशास्त्री बेंजामिन ग्राहम के एक लेख को पढऩे के बाद शेयर बाजार में उनकी रूचि बढ़ी।

सब्सक्रिप्शन लेकर कर सकते हैं निवेश-

अगर आप संकर्ष की कंपनी के माध्यम से शेयर बाजार में निवेश करना चाहते हैं तो आपको उनका एक ऐप डाउनलोड करना होगा। इसका सब्सक्रिप्शन लेने के लिए आपको प्रत्येक वर्ष 4,999 रुपए देने पड़ेंगे, जबकि पहले इसकी कीमत सिर्फ 99 रुपए थी, जो बढ़कर 299 हुई और अब इसका चार्ज 4,999 हो गया है।

यह ऐप विभिन्न बजटों के लिए विभिन्न निवेश विकल्प प्रदान करता है। संकर्ष के अनुसार आप छोटी रकम से भी निवेश की शुरूआत कर सकते हैं।

सादा जीवन में संकर्ष का विश्वास-

महज २३ की उम्र में करोड़पति बनने के बाद भी संकर्ष सादा जीवन जीना पसंद करते हैं। वे ज्यादातर समय टी-शर्ट और शॉट्र्स में रहते हैं।

संकर्ष कहते हैं मैं शायद ही अपने स्टॉक को कैश में बदलता हूं, क्योंकि मैं जीवन की ओर कम आकर्षित होता हूं। मैं फॉर्मल तभी पहनता हूं जब मुझे किसी शो में शामिल होने या कहीं मीटिंग में जाना होता है।

रेटिंग: 4.92
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 832
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *