प्रमुख भारतीय स्टॉक एक्सचेंज

ट्रेडिंग क्या है और ट्रेडिंग अकाउंट कैसे बनाये

ट्रेडिंग क्या है और ट्रेडिंग अकाउंट कैसे बनाये

Guru Trade 7 App क्या है इससे पैसे कैसे कमाए | Guru Trade 7 App Real or Fake in Hindi

Guru Trade 7 App: आज हम बात करने वाले हैं Guru Trade 7 App से ट्रेडिंग करके पैसे कैसे कमाए. अगर आप थोड़ा भी इंटरनेट पर active रहते हैं, तो आपको पता होगा ट्रेडिंग क्या है. अगर आपको नहीं पता है ट्रेडिंग क्या है, तो आपको ट्रेडिंग क्या है और ट्रेडिंग अकाउंट कैसे बनाये बता दो ट्रेडिंग उसको कहता है. जहाँ पर हम Company Shares को खरीदते और बेचते है.

ट्रेडिंग करने के लिए हमें किसी Trading App की जरुरत पड़ती है, जैसे Zerodha Kite, Upstock, Angel One. यह सब बहुत famous ट्रेडिंग एप्प है. उसी तरह Guru Trade 7 App भी एक ट्रेडिंग एप्प है, यहाँ पर ट्रेडिंग करके पैसे कमा सकते है.

आज के इस ब्लॉग पोस्ट में Guru Trade 7 App के बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी. जिसमे आपको जानने को मिलेगा की Guru Trade 7 App क्या है, Guru Trade 7 App से पैसे कैसे कमाए, Guru Trade 7 App डाउनलोड कैसे करे, Guru Trade 7 App पर अकाउंट कैसे बनाए, Guru Trade 7 App Real or Fake, Guru Trade 7 App से पैसे withdraw कैसे करे.

तो चलिये आपका ज्यादा समय बर्बाद नहीं करते हुए, आज का यह आर्टिकल शुरू करते है.

गुरु ट्रेड 7 एप्प क्या है (Guru Trade 7 App in Hindi)

Guru Trade 7 App एक ऑनलाइन ट्रेडिंग एप्प है. जहां पर ट्रेडिंग करके पैसे कमा सकते है. इस एप्प को अक्टूबर 2020 में लांच किया गया था और एक इंडियन ट्रेडिंग एप्प है. Guru Trade 7 App में real और demo अकाउंट दिया जाता है, ताकि demo अकाउंट में practice करने के बाद रियल अकाउंट में बिना loss के ट्रेडिंग कर सके.

इस एप्प में ट्रेडिंग 20 रुपए से लेकर 1000 रुपए तक के बीच में कर सकते है. जब इस एप्प से पैसे withdraw करेंगे, तो यह एप्प का एक बहुत बढ़िया खासियत है की बीना ID Proof और Bank Account डिटेल्स के पैसे आप अपने Phonepe, Paytm या किसी UPI ID में ट्रांसफर कर सकते है.

Application NameGuru Trade 7 App
CategoryFinance
Rating4.4 Stars
Launch DateOctober 2020
App Size12MB
DeveloperGuruTrade7 Team
Downloads10M+

गुरु ट्रेड 7 एप्प से पैसे कैसे कमाए (Guru Trade 7 App se paise kaise kamaye)

Guru Trade 7 App से पैसा कमाना बहुत आसान है, दूसरे ट्रेडिंग एप्प के मुकाबले में जैसे Zerodha हो गया. क्योंकि उन सब ट्रेडिंग एप्प में नॉलेज का बहुत जरुरत है, वरना आपका loss ही होगा. लेकिन Guru Trade App पर ट्रेडिंग करने के लिए थोड़ा बहुत नॉलेज काफी है.

Guru Trade 7 App पर ट्रेडिंग करने के लिए सबसे पहले अपने ट्रेडिंग एकाउंट में कम से कम 100 रुपए जमा करना होता है. उसके बाद कोई भी Currency सेलेक्ट करना है. उस करेंसी के बारे में आपको अच्छा prediction होना चाहिए. तभी जाकर उस करेंसी पर ट्रेडिंग करके पैसे कमा सकते है.

इस एप्प ट्रेडिंग क्या है और ट्रेडिंग अकाउंट कैसे बनाये में शुरू में 20 रुपए से ही ट्रेडिंग करे, जब आपका ज्यादा प्रॉफिट होने लगे, तब जाकर ज्यादा पैसे से ट्रेडिंग करे वरना loss सान संभावना ज्यादा है.

Guru Trade 7 App में जब ट्रेडिंग करेंगे, तो 2 Option दिया जाता है एक Call और दूसरा Put का. जब आपको लगेगा की price ऊपर जाएगा तो Call Option खरीदना है और जब नीचे आएगा तो Put Option खरीदना है. अगर आपका अंदाजा सही रहा तो आपके दो गुना हो जाएगी वरना पैसे हार जाएगी.

Guru Trade 7 App डाउनलोड कैसे करे

Guru Trade 7 App डाउनलोड करना बहुत आसान है, क्योंकि यह एप्प गूगल प्लेस्टोरे पर मौजूद है. अगर आपको यह एप्प डाउनलोड करने कोई दिक्कत आ रही है या कोई Confusion है की. यह एप्प रियल है की नहीं तो निचे दिए गए प्रोसेस को फॉलो करे.

  • सबसे पहले प्लेस्टोरे को Open करना है.
  • उसके बाद Guru Trade 7 App सर्च करना है.
  • अब उस एप्प को सेलेक्ट करना है, जिससे GuruTrade7 ने बनाया है.
  • उसके बाद उस एप्प को फ़ोन में इनस्टॉल कर लेना है.

Guru Trade 7 App में अकाउंट कैसे बनाए

Guru Trade 7 App पर ट्रेडिंग करने के लिए एकाउंट होना जरुरी है. इस अप्प में अकाउंट बनाना बहुत आसान है. अगर आपको बनाने में कोई दिक्कत हो रहा है या नहीं जानते हो, तो निचे दिए गए प्रोसेस को फॉलो करे.

  • सबसे पहले Guru Trade 7 App को अपने फ़ोन खोलना है.
  • उसके बाद Left Side में “Me” का ऑप्शन होगा उसपर क्लिक करना है.
  • अब दूसरे पेज पर Sign In बटन पर क्लिक करना है.
  • उसके बाद ईमेल एड्रेस और पासवर्ड डालकर Login कर लेना है.
  • अगर अकाउंट नहीं है, तो फेसबुक से Login कर लेना है.

Guru Trade 7 App is Real or Fake

Guru Trade 7 App एकदम रियल एप्प है, इसमें कोई शक नहीं है. क्योंकि यह एप्प प्लेस्टोरे पर मौजूद है. अगर यह एप्प Fake होती तो गूगल खुद इसे प्लेस्टोरे से हटा देती. इसलिए यह एप्प रियल है, लेकिन इसमें बहुत सारे कमी है.

जब आप Guru Trade 7 App पर Demo अकाउंट से ट्रेडिंग करेंगे तो ज्यादातर profit ही होगा. लेकिन जब रियल अकाउंट ट्रेडिंग करेंगे तो उसमें Loss देखने को मिलेगा. इसलिए मेरा suggestion है कि इस एप्प पर ट्रेडिंग ना ही करें तो अच्छा है.

अब बात करे पैसे withdrawl की तो इसमें कन्फर्म तो नहीं बता सकते है. क्योंकि बहुत सारे लोग के अकाउंट में पैसे आए भी है और लोगो के अकाउंट में withdraw करने के बाद पैसे नहीं आ रहे हैं. अगर फिर भी आप ट्रेडिंग करना चाहते है, तो करे क्योंकि पैसा तो आपका है.

FAQ’s On Guru Trade 7 App

गुरु ट्रेड 7 एप्प क्या रियल है

Guru Trade 7 App एक रियल है क्योंकि प्लेस्टोरे पर मौजूद है. गूगल प्लेस्टोरे पर फेक एप्प नहीं रहते है.

गुरु ट्रेडिंग क्या है और ट्रेडिंग अकाउंट कैसे बनाये ट्रेड 7 एप्प कौन से देश की है

Guru Trade 7 App एक इंडियन एप्प है. जिसे अक्टूबर 2020 में लांच किया गया था.

Conclusion

इस आर्टिकल में मैंने Guru Trade 7 App के बारे में पूरी जानकारी दी है. अगर आपके लिए यह ब्लॉग पोस्ट थोडा सा helpful रहा हो तो अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करे. आपके मन में इस आर्टिकल के related कोई सवाल है तो कमेंट में पूछ सकते है.

Md Irshad

My name is Md Irshad. I am founder of this blog. Here we will provide you only interesting content, which you will like very much. ❤️

खोलना चाहते हैं डीमैट अकाउंट, आइए हम बताते हैं कैसे चुने नए युग का डिस्काउंट ब्रोकरेज प्लेटफॉर्म

ट्रे़डिंग पोर्टल पर इजी-टू-यूज इंटरफेस से नए निवेशकों को आसानी से सौदे डालने की सुविधा होती है। नए जमाने के डिजिटल टेक्नोलॉजी पर आधारित डिस्काउंट ब्रोकरेज हाउस इजी-टू-यूज इंटरफेज पर फोकस करते हैं

सेबी चेयरमैन अजय त्यागी ने नवंबर में इंटरनेशनल ट्रेड फेयर में बोलते हुए बताया था कि वर्तमान वित्त वर्ष में हर महीने करीब 26 लाख डीमैट अकाउंट खोले गए हैं जबकि 2019-20 में हर महीने करीब 4 लाख डीमैट अकाउंट खोले गए थे।

कोविड-19 महामारी की पहली लहर के दौरान तमाम नई पीढ़ी के ट्रेडिंग क्या है और ट्रेडिंग अकाउंट कैसे बनाये निवेशक इक्विटी बाजार में किस्मत आजमाते दिखे हैं। सेबी चेयरमैन अजय त्यागी ने नवंबर में इंटरनेशनल ट्रेड फेयर में बोलते हुए बताया था कि वर्तमान वित्त वर्ष में हर महीने करीब 26 लाख डीमैट अकाउंट खोले गए हैं जबकि 2019-20 में हर महीने करीब 4 लाख डीमैट अकाउंट खोले गए थे।

कम उम्र में निवेश की शुरुआत बहुत अच्छी बात है लेकिन इसके साथ ही इस बात की भी बहुत अहमियत होती है कि आप कहां निवेश कर रहे हैं और किसके जरिए निवेश कर रहे हैं। इस समय बाजार में कई पुरानी और नई पीढ़ी के ब्रोकिंग प्लेटफॉर्म उपलब्ध है जिसमें Zerodha, Upstox, Groww, FYERS और Paytm Money जैसे नाम शामिल हैं। सही ब्रोकर का चुनाव इक्विटी इन्वेस्टमेंट में काफी अहमियत रखता है। इसको ध्यान में रखते हुए यहां हम आपको कुछ ऐसी गाइडलाइन दे रहे हैं जिसके जरिए आप डीमैट अकाउंट खोलने के लिए सही ब्रोकरेज फर्म का चुनाव कर सकते हैं।

ट्रेडिशनल बनाम डिस्काउंट ब्रोकरेज

संबंधित खबरें

Bonus Share: निवेशकों को बोनस शेयर देगी यह स्मॉल कैप कंपनी, शेयरों में एक साल के निचले स्तर से 59% की तेजी

NDTV के लिए अडानी ग्रुप का ओपन ऑफर 32% सब्सक्राइब होकर बंद हुआ

Tata Group के इस शेयर से एक दिन में बनेगा पैसा

बता दें कि ट्रेडिशनल ब्रोकरेज फर्म अपने ग्राहकों को रेगुलर ट्रेडिंग टिप्स देते हैं। उनका बिजनेस मॉडल इस सोच पर आधारित होता है कि अधिकांश लोगों को इक्विटी मार्केट में निवेश के लिए ट्रेडिंग आइडियाज की जरुरत होती है जबकि डिस्काउंट ब्रोकरेज एक फिनटेक प्लेटफॉर्म होते हैं जो स्टैंडर्डाइज्ड एक्सीक्यूशन सेवाएं उपलब्ध कराते हैं लेकिन परंपरागत ब्रोकिंग फंडो की तरह अपने ग्राहको को कोई ट्रेडिंग टिप्स नहीं देते।

FYERS के Tejas Khoday का कहना है कि डिस्काउंट ब्रोकरेज भारत में उस तेजी से बढ़ते ट्रेडिंग कम्यूनिटी को अपनी सेवाएं देते हैं जो सेल्फ एजूकेटेड होते हैं और जो स्वतंत्र रुप से अपने निर्णय लेते हैं।

एक fintech ट्रेडिंग क्या है और ट्रेडिंग अकाउंट कैसे बनाये consultant पारिजात गर्ग का कहना है कि अगर कोई निवेशक अपने निवेश के लिए इंस्टीट्यूशनल रिसर्च एडवाइस, ऑर्डर के लिए डेस्क सपोर्ट, पोर्टफोलियो मैनेजमेंट सर्विस और मार्जिन आधारित ट्रेडिंग की मांग करता है तो उसको फुल ब्रोकरेज हाउसों में अपना डीमैट अकाउंट खुलवाना चाहिए।

जानकारों का कहना है कि डिस्काउंट ब्रोकरेज हाउसों का कारोबार पारदर्शी होता है और इनका फीस स्ट्रक्चर उनकी वेबसाइट पर दिया होता है। वे लगभग ट्रेडिंग क्या है और ट्रेडिंग अकाउंट कैसे बनाये 20 रुपये प्रति ट्रांजैक्शन के आधार पर अपनी फीस लेते हैं। इसके लिए ट्रेड वैल्यू की सीमा नहीं होती है। इससे ट्रेडरों और इन्वेस्टरों को लगभग 95-98 फीसदी की बचत हासिल होती है। ऐसे में जो लोग भारी मात्रा में इंट्राडे और पोजिशनल ट्रेडिंग करते हैं उनकी ब्रोकरेज फीस में काफी कटौती होती है।

इसके विपरीत ट्रेडिशनल ब्रोकरों का फीस स्ट्रक्चर एक क्लाइंट से दूसरे क्लाइंट के लिए अलग-अलग होता है और यह वॉल्यूम पर भी निर्भर करता है। कभी -कभी परंपरागत ब्रोकरेज फर्म अपने पुराने ग्राहकों की फीस कम कर देते हैं। इसके अलावा कुछ परंपरागत ब्रोकर फर्म मोलभाव को भी मंजूरी देते हैं। परंपरागत ब्रोकर फर्मों की फीस ट्रांजैक्शन वैल्यू के 0.3-0.5 फीसदी तक हो सकती है।

FYERS के तेजस खोडे (Tejas Khoday) का कहना है कि ब्रोकर का चुनाव करते हुए आपको उसके ट्रेडिंग क्या है और ट्रेडिंग अकाउंट कैसे बनाये फाउंडर की विश्वनीयता को ध्यान में रखना चाहिए। अगर ब्रोकरेज फर्म की मैनेजमेंट टीम मजबूत, अनुभवशाली, ईमानदार और विश्वनीय है तो वह आपके लिए बेहतर साबित हो सकते हैं।

इसके अलावा ट्रे़डिंग पोर्टल पर इजी-टू-यूज इंटरफेस से नए निवेशकों को आसानी से सौदे डालने की सुविधा होती है। नए जमाने के डिजिटल टेक्नोलॉजी पर आधारित डिस्काउंट ब्रोकरेज हाउस इजी-टू-यूज इंटरफेज पर फोकस करते हैं जिससे की नए निवेशकों को आकर्षित किया जा सके। इसके साथ ही ब्रोकरेज फर्म का चुनाव करते समय वैल्यू एडेड सर्विसेस को भी ध्यान में रखें। इस तरह की सर्विसेज में कैपिटल गेन रिपोर्ट, ट्रेड कन्फर्मेशन की रिपोर्ट, दूसरे तरह के टूल और कैल्क्यूलेटर शामिल होते हैं।

PrimeInvestor.in. के Srikanth Meenakshi का कहना है कि कुछ डिस्काउंट ब्रोकर डोमेस्टिक और इंटरनेशनल स्टॉक मार्केट में निवेश की सुविधा देते हैं। इस तरह की वैल्यू एडेड सेवाएं उस समय काम की होती है जब कोई निवेशक विदेशी शेयरों में निवेश करना चाहता है। इसके अलावा डिस्काउंट ब्रोकर्स आपको हाई क्वालिटी रिसर्च रिपोर्ट भी उपलब्ध कराते हैं जो इनडिपेंडेंट रिसर्च संगठनों द्वारा जारी किए जाते हैं। उदाहरण के लिए FYERS ने इक्विटी रिसर्च रिपोर्ट के लिए William O'Neil के साथ करार कर रखा है जिसकी सुविधा अतरिक्त भुगतान करके ली जा सकती है। कई डिस्काउंट ब्रोकर ब्लॉग, वीडियो और पॉडकास्ट के जरिए आपको तमाम जानकारी उपलब्ध कराते हैं।

जानकारों को सलाह है कि अगर आप किसी डिस्काउंट ब्रोकर फर्म के जरिए निवेश करना चाहते हैं तो इसके लिए उन लोगों से बात करें जो इस तरह के ऐप यूज करते हैं। इसके अलावा आप गूगल प्ले स्टोर या एप्पल ऐप स्टोर पर जाकर ऐप की रिव्यू और रेटिंग देखें। उन पर निवेशकों के अपने अनुभव पढ़ें और उसके आधार पर अच्छे स्टॉक रेटिंग वाले ऐप का चुनाव करें। इसके अलावा सोशल मीडिया पर जाकर भी डिस्काउंट ब्रोकर से संबंधित शिकायतों, अपडेट आदि के बारे में जानकारी ली जा सकती है।

शेयर मार्किट क्या होता है इससे पैसे कैसे कमाते है? Share market in hindi

Share market in hindi

इस पोस्ट आप जानेंगे शेयर मार्किट क्या होता है इससे से पैसे कैसे कमाते है। ”Share ट्रेडिंग क्या है और ट्रेडिंग अकाउंट कैसे बनाये market in hindi” इसमें पैसे कैसे लगते है डीमेट अकॉउंट किया होता है और इसे कैसे खोला जाता है। यह आर्टिक्ल में इसलिए लिखा रहा हूँ कि आये दिन लोगो के मन में यही सवाल होता है की आखिर शेयर मार्किट क्या होता है। ”Share market in hindi” हम जहा भी जाते है वह हर जगह लोग यही बोलते है कि आज मैनें शेयर मार्किट में इतने पैसे लगाए थे और इससे ज्यादा पैसे कमाए। कई लोग सालो से शेयर मार्किट में पैसे लगाए होते है जब डबल या फिर उससे से 10 गुना ज्यादा बना जाते है तो लोग अपने पैसे को शेयर मार्किट बापिस निकाल लेते है।

share market investment

शेयर मार्किट क्या होता है इससे पैसे कैसे कमाते है? Share market in hindi

शेयर मार्किट को हम शेेेेयर वाज़ार बोल सकते है क्योंकि इसमें बहुत सारी ब्रोकर कम्पियन्स होती है जिसके जरिए हम शेयर को खरीदते है और बेचते है इसके लिए हमे कोई बेचने बाला या खरीदने बाले को ढूंढ़ने की जरूरत नहीं होती है भारत में प्रमुख तीन एक्सचेंज है

  1. NSE (National Stock Exchange)
  2. BSE (Bombay Stock Exchange)
  3. MCX (Multi Commodity Exchange)

कम्पनीया शेयर कैसे issue करती है

किसी भी कंपनी को शेयर बाज़ार की स्कॉक एक्सचेंज में लिस्ट करबाना होती है उसके लिए एक शेयर का रेट कंपनी अपने आप निर्धारित करती है जो मूल्य कंपनी ने रखा होता है उसे मूल्य पर public को खरीदना होता है IPO(Initial Public Offering) के रूप में कंपनी सटक एक्सचेंज लिस्ट करबाती है एक बारे IPO पूरा हो जाने के बाद ब्रोकर के द्बारा बेचे और ख़रीदे जाते है

शेयर का price कैसे ज्यादा और कम होता है

किसी बी शेयर का Price IPO के समय फिक्स होता है पर बाद में अगर उसी शेयर का मूल्य इसलिए बढ़ता है जब उस शेयर को public ज्यादा खरीदने लग जाती है तो शेयर का मूल्य बढ़ जाता है और अगर उसी को अगर बहुत public ज्यादा बेचने लगती है तो उस शेयर का मूल्य कम हो जाता है

Nifty 50 index क्या होती है

Nifty 50 नेशनल स्टॉक ट्रेडिंग क्या है और ट्रेडिंग अकाउंट कैसे बनाये एक्सचेंज का एक Index होता है इसमें NSE की टॉप 50 लिमिटेड कम्पियन्स का कैपटलिजेशन के आधार पर किया जाता है अगर Nifty 50 बढ़ता है तो इसका मतलब की उन 50 कम्पनीज ने अच्छा प्रदर्शन किया है और अगर Nifty 50 कम होता है तो उन 50 कम्पनीज ने बुरा प्रदर्शन दिया है

Nifty bank index क्या होता है

Nifty bank इसके नाम से ही पता चल रहा है की इसमें टॉप 15 Bank का कैप्टलिजेशन के आधार पर किया जाता है इसका मूल्य उसी कम या ज्यादा होता है जिस तरह Nifty 50 का होता है।

डीमेट अकाउंट क्या होता है

यह अकाउंट बिलकुल उसी उसी तरह होता है जिस तरह हमारा किसी बैंक अकाउंट होता है डीमेट अकाउंट में हम अपने पैसे को fund के रूप में जमा करते है यह बिकुल सिक्योर होता है।

Treading अकाउंट क्या होता है

यह अकाउंट शेयर बाजार में शेयर खरीदने और बेचने के लिए काम आता है यह अकाउंट आप किसी अच्छे ब्रोकर के खोले और ऑनलाइन सुभिदा से आप शेयर को खरीद और बेच सकते है Upstox मेरा फवरते ब्रोकर है है इसमें एक ही एप्लीकेशन में फण्ड जमा और IPO के लिए अप्लाई क्र सकते जो जो हमे जरूरत होती है बो Upstox की एप्लीकेशन में मिल जाती है

डीमेट और ट्रेडिंग अकाउंट कैसे खोले

डीमेट और ट्रेडिंग अकाउंट आप एक ब्रोकर के पास खोल सकते है इसके लिए आपको एक अच्छा ब्रोकर चुनना होता है जैसे की Upstox. आप Upstox में आप मोबाइल और कंप्यूटर में कुछ ही समय में अकाउंट को खोल सकते है और शेयर को खरीदना और बेचना शुरू कर सकते है upstox में अकाउंट ओपन करने के लिए आप ट्रेडिंग क्या है और ट्रेडिंग अकाउंट कैसे बनाये यहाँ क्लिक करे click here

upstox में अकाउंट 300rs देने होते यह कभी कभी फ्री में भी खोल देते है।

डीमेट और ट्रेडिंग अकाउंट खोलने के लिए जरूरी दस्तबेज
  1. पैन कार्ड।
  2. आधार कार्ड।
  3. बैंक स्टेटमेंट 6 महीने की।
  4. हस्तक्षेर।
  5. लाइव फोटो।

इन सारे दस्ताबेज को देने समय यह ध्यान रहे कि इनमे आपका नाम साफ़ दिखना चाहिए।

आपकी राय

दोस्तों मुझे उम्मीद है आज आपके सारे सवालों के जबाब मिल गए होंगे। अगर फिर भी कुछ रह गए होंगे तो मुझे कमेंट में पूछ सकते है में कोशिश करूंगा आपके सवालों का जबाब देने में। और अगर आपको मेरा आर्टिकल पसंद आया तो इस ”Share market in hindi” आर्टिक्ल को आप अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे। और अपने Facebook, Instagram पर भी शेयर जरूर करे।

DEMAT अकाउंट कहाँ और कैसे खोले

Zerodha

अगर आपने ध्यान दिया होगा, तो आपको पता होगा कि, PAN CARD भी इन्ही दोनों संस्थाओ में प्रमुख रूप से NSDL द्वारा बनाया गया होता है, और हो सकता है आपने पैन कार्ड के सम्बन्ध में NSDL का नाम पहले जरुर सुना होगा,

खैर बता दे कि जिस तरह PAN CARD बनाने के लिए आप किसी एजेंट की मदद से ऑनलाइन एप्लीकेशन देते है, और कुछ दिनों में आपका पैन कार्ड बन जाता है,

वैसे ही आपको DEMAT अकाउंट खोलने के लिए आपको डायरेक्टली NSDL और CDSL के पास जाने की जरुरत नहीं , और आप DEMAT अकाउंट खोलने का एप्लीकेशन किसी भी प्रमुख बैंक और स्टॉक ब्रोकर के पास कर सकते है,

और अगर बात की जाये स्टॉक ब्रोकर की तो सभी प्रमुख स्टॉक ब्रोकर आपको TRADING ACCOUNT के साथ साथ DEMAT ACCOUNT खोलने की भी सुविधा देते है,

DEMAT अकाउंट खोलने के लिए आपको अलग से कुछ करने की जरुरत नहीं होती, बस आपको एक ऐसे स्टॉक ब्रोकर या बैंक के पास जाकर एप्लीकेशन देना है, जो DEMAT अकाउंट खोलने की सुविधा देता है,

कुछ ट्रेडिंग क्या है और ट्रेडिंग अकाउंट कैसे बनाये प्रमुख बैंक और स्टॉक ब्रोकर की लिस्ट जो DEMAT और ट्रेडिंग अकाउंट खोलने की सुविधा साथ साथ देते है –

DEMAT ACCOUNT OPEN करने के लिए बैंक की लिस्ट

और प्रमुख स्टॉक ब्रोकर जहा DEMAT अकाउंट खोले जा सके है,

ये लिस्ट बहुत छोटी है , क्योकि आज कल सभी बैंक DEMAT और TRADING अकाउंट खोलने की सुविधा दे रहे है,

आप अपनी सुविधानुसार अपने नजदीकी बैंक या स्टॉक ब्रोकर के पास जाकर इसके बारे में पता कर सकते है,

यहाँ तक आप समझ गए होंगे कि DEMAT अकाउंट खोलने के लिए आपको ऐसे बैंक या फिर ऐसे स्टॉक ब्रोकर के पास जाना है, जो DEMATअकाउंट खोलने की सुविधा देता है,

और वहा आपको अकाउंट ओपन करने का एप्लीकेशन और एप्लीकेशन करने के लिए आवश्यक डॉक्यूमेंट देने है,

अब आइये बात करते है –

DEMAT ACCOUNT खोलने के लिए आवश्यक DOCUMENTS

आपने अपना बैंक अकाउंट खोलने के लिए बैंक अकाउंट ओपनिंग फॉर्म के साथ साथ जो भी डॉक्यूमेंट बैंक को दिया होगा, वही डॉक्यूमेंट आपको DEMAT अकाउंट के लिए भी देना होता है,

DEMAT अकाउंट ट्रेडिंग क्या है और ट्रेडिंग अकाउंट कैसे बनाये ओपन करने के लिए डॉक्यूमेंट की लिस्ट

पैन कार्ड और अब आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया है,

इसके साथ साथ आप अपने Address को कन्फर्म करने लिए आप अन्य डाक्यूमेंट्स भी दे सकते है –

  • एम्प्लोयी आईडी
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • वोटर आईडी
  • इलेक्ट्रिसिटी बिल/ लैंडलाइन बिल
  • पासपोर्ट
  • राशन कार्ड
  • आईटी रिटर्न्स
  • बैंक स्टेटमेंट

इस तरह आपको सभी डॉक्यूमेंट देने की जरुरत नहीं है, Demat अकाउंट के लिए आपसे पैन कार्ड और आधार कार्ड अनिवार्य रूप से माँगा जायेगा, और साथ में अगर जरुरत पड़ती तो आपको अन्य डाक्यूमेंट्स में से कुछ देने होंगे, सभी नहीं.

Demat अकाउंट खोलने की फीस

Demat खोलने की कुछ फ़ीस होती है, जो अलग अलग बैंक्स और स्टॉक ब्रोकर के द्वारा अलग अलग अमाउंट के रूप में फ़ीस चार्ज किया जाता है, और साथ ही साथ Demat Account खोलने के बाद उसका Annual Maintatnce Charge भी होता है, जो आपको demat अकाउंट की सेवा के बदले हर साल एक फ़ीस के तौर पे देना होता है,

जब भी आप Demat account खोलने के लिए किसी बैंक के पास या स्टॉक ब्रोकर के पास जाते है, तो वहा आप फ़ीस के बारे में जरुर पता करे ताकि आपको बेवजह एक्स्ट्रा चार्ज न देना पड़े.

Demat Account Nomination

जब भी आप Demat Account ओपन करने जाते है, तो आपको एप्लीकेशन फॉर्म पे Nominee का नाम डालना होता है, Nominee व्यक्ति का नाम इसलिए डालना जरुरी होता है, किसी भी दुर्घटना की स्थिती में Demat account में जमा शेयर्स को नॉमिनी का ट्रान्सफर किया जा सके.

अगर आपने अकाउंट ओपन कर लिया है, और नॉमिनी का नाम नहीं डाला है, तो आप अपने बैंक या स्टॉक ब्रोकर जहा पर आपका अकाउंट है, उनसे कांटेक्ट करके नॉमिनी का फॉर्म जरुर भर ले, ये फ्यूचर में होने वाली किसी भी दुर्घटना की स्थिति में बहुत लाभकारी होगा.

अगर पोस्ट अच्छा लगा तो नीचे अपना कमेंट या सवाल जरुर लिखे,

रेटिंग: 4.38
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 598
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *