प्रमुख भारतीय स्टॉक एक्सचेंज

रणनीति खरीदें या बेचें

रणनीति खरीदें या बेचें
इस बैंक निफ्टी विकल्प रणनीति के कुछ प्रमुख पहलू हैं। पहला यह कि सफल होने के लिए आपकी पसंद का गैप 100 अंक या उससे अधिक का होना चाहिए। अगर यह 100 से नीचे है, तो आप अगले गैप की प्रतीक्षा करें और इस एक ओवर को छोड़ दें। आप इस उद्देश्य के लिए 15 मिनट की समय सीमा चार्ट का उपयोग कर सकते हैं।

1 लॉट खरीदें 2 लॉट बेचें ऑप्शन ट्रेडिंग स्ट्रैटेजी || 1 Lot Buy 2 Lot Sell Low Risk Option Strategy

लगभग दो दशक हो गए हैं ऑप्शन ट्रेडिंग करते हुए। मुझे इस ऑप्शन ट्रेडिंग का लाभ भारतीय स्टॉक मार्केट में खूब मिला है। पहले कुछ झटकों के बाद ऑप्शन ट्रेडिंग की समझ बहुत स्पष्ट हो गई। झटके लगने का प्रमुख कारण ऑप्शन ट्रेडिंग के बारें में सही जानकारी का अभाव है। मैंने अपने ऑप्शन ट्रेडिंग को बहुत लंबे समय तक चालू रखा और रणनीति खरीदें या बेचें इंडेक्स में उतार-चढ़ाव अच्छी तरह समझा। थोड़े से पैसे से मैंने ऑप्शन ट्रेडिंग की शुरुआत की। शुरू रणनीति खरीदें या बेचें में, मुझे पता चला कि ऑप्शन ट्रेडिंग में संवेदनशीलता के कारण, हमें वह पूर्ण रिटर्न नहीं मिल सकता है जिसकी हम तलाश कर रहे हैं। उदाहरण के लिए, इंडेक्स में 100 अंक की वृद्धि हुई लेकिन मेरा कॉल ऑप्शन केवल 6-8 रुपये ही बढ़ा।

इस तरह के अनुभव अक्सर एक ऑप्शन ट्रेडिंग व्यापारी के शुरुआती व्यापारिक कार्यकाल का हिस्सा होते हैं। हालांकि, मुझे ऑप्शन ट्रेडिंग के रणनीतियों को सीखने में इससे काफी मदद मिली।

नतीजों के बाद इंफोसिस में बिकवाली, निवेशक शेयर खरीदें या बेचें; ब्रोकरेज की ये है राय

नतीजों के बाद इंफोसिस में बिकवाली, निवेशक शेयर खरीदें या बेचें; ब्रोकरेज की ये है राय

Infosys Stocks: तिमाही नतीजों के बाद इंफोसिस के शेयरों में आज तेज गिरावट देखने को मिली है. (Reuters)

Infosys Stocks: इंफोसिस के शेयरों में आज 14 जनवरी को तेज गिरावट देखने को मिली है. कंपनी का शेयर बाज करीब 5 फीसदी टूटकर 1318 रुपये के भाव पर आ गया. बुधवार को शेयर 1387 रुपये के भाव पर बंद हुआ था. बुधवार 13 जनवरी को इंफोसिस ने अपने तिमाही नतीजे पेश किए थे, जो उम्‍मीद से बेहतर थे. कंपनी का रेवेन्‍यू 4.5 फीसदी के साथ बढ़कर करीब दोगुना हुआ. मार्जिन और डॉलर आय भी बढ़ी. इंफोसिस ने वित्‍त वर्ष 2022 के लिए ग्रोथ गाइडेंस डबल डिजिट में दिया है. फिलहाल नतीजों के बाद ब्रोकरेज हाउस भी शेयर को लेकर अपनी राय बना रहे हैं. जानते हैं कि आपको शेयर खरीदना चाहिए या अभी इसके लिए इंतजार.

ग्रोथ गाइडेंस से सेंटीमेंट मजबूत

मैनेजमेंट ने FY 21 के लिए रेवेन्यू गाइडेंस 2-3 फीसदी से बढ़ाकर 4.5-5 फीसदी किया है. इसके अलावा मार्जिन गाइडेंस 23-34 फीसदी से बढ़ाकर 24-24.5 फीसदी किया है. कंपनी मैनेजमेंट को अगले साल अच्छी ग्रोथ का पूरा भरोसा है और उन्होंने कहा है कि वित्त वर्ष 2022 में डबल डिजिट ग्रोथ दिखेगी. इंफोसिस के सीईओ व एमडी सलिल पारेख ने कहा कि हमारी टीम ने एक और तिमाही में बेहतरीन नतीजे हासिल किए. डिजिटल ट्रांसफार्मेशन पर केन्द्रित, क्लाइंट को लेकर सही रणनीति ने अच्छी ग्रोथ को जारी रखा है. वैनगार्ड, डैमलर और रोल्स रायस जैसी दिग्गज वैश्विक कंपनियों के साथ नई क्लाइंट पार्टनरशिप ने इंफोसिस की डिजिटल व क्लाउड क्षमताओं को दिखाया है.

आईटी कंपनी इंफोसिस का मुनाफा दिसंबर तिमाही में करीब 17 फीसदी 5197 करोड़ रुपये रहा है. कंपनी को एक साल पहले समान तिमाही में 4457 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था. कंपनी का रेवेन्यू दिसंबर तिमाही में 12.3 फीसदी बढ़कर 25927 करोड़ रुपये हो गया. इस दौरान कंपनी को मजबूत डील हासिल हुई हैं.

ब्रोकरेज हाउस की क्‍या है राय

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने शेयर में 1600 रुपये के लक्ष्‍य के साथ निवेश की सलाह दी है. शेयर बुधवार को 1387 रुपये पर बंद हुआ था. इस लिहाज से शेयर में 15 फीसदी रिटर्न आगे मिल सकता है. इडेलवाइस ने इंफोसिस में निवेश का लक्ष्‍य देते हुए 2124 रुपये का लक्ष्‍य तय किया है. ब्रोकरेज के कंपनी की 7.1 अरब डॉलर की डील अबतक के रिकॉर्ड स्तरों पर है. हालांकि मार्जिन अनुमान से कम है. प्रभुदास लीलाधर ने शेयर के लिए खरीद की सलाह देते हुए 1611 रुपये का लक्ष्‍य दिया है.

क्रेडिट सूईस ने इंफोसिस पर ओवरपरफॉर्म रेटिंग दी है. ब्रोकरेज ने शेयर के 1810 रुपये का लक्ष्‍य तय किया है. करंट प्राइस के लिहाज से शेयर में 30 फीसदी रिटर्न मिल सकता है. CLSA ने रणनीति खरीदें या बेचें शेयर में खरीद की सलाह देते 1620 रुपये का लक्ष्‍य दिया है. जबकि मॉर्गन स्‍टैनले ने ओवरवेट रेटिंग देते हुए 1700 रुपये का लक्ष्‍य तय किया है.

शेयर बाजार से फायदा कमाने के लिए सही रणनीति जरूरी: चढ़ते बाजार में मुनाफा वसूली से बचें, पैसे की जरूरत हो तभी बेचें अपने शेयर

बीते हफ्ते सेंसेक्स पहली बार 63,000 से ऊपर बंद हुआ। ये ऐसे समय हुआ जब अमेरिका और यूरोप जैसी बड़ी व विकसित अर्थव्यवस्थाएं सुस्त पड़ गई हैं। इसके चलते दुनियाभर के ज्यादातर शेयर बाजार बिकवाली के दबाव में हैं। दूसरी ओर अधिकांश भारतीय निवेशक अच्छे-खासे मुनाफे पर बैठे हैं, खास तौर पर वो लोग जिन्होंने लॉकडाउन के दौरान शेयर खरीदा था। ऐसे लोग असमंजस में हैं।

एनआरपी कैपिटल्स के संस्थापक CA ऋषभ पारख कहते हैं कि उन्हें इस बात का डर सता रहा है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था की स्थिति और बिगड़ने पर कहीं बाजार में तेज करेक्शन (अत्यधिक बढ़त के बाद गिरावट) न शुरू हो जाए। असल में आम भारतीय निवेशक गिरते हुए बाजार से ज्यादा चढ़ते हुए बाजार को लेकर आशंकित रहते हैं और यहीं गलती कर बैठते हैं। ऐसे दौर में मुनाफावसूली आम ट्रेंड है, लेकिन ये सोच बदलने की जरूरत है।

bank nifty option trading strategy in Hindi - Share Market In Hindi

बैंक निफ्टी बैंकिंग क्षेत्र के 12 उच्चतम कैप और सबसे अधिक तliquid stocks का सूचकांक है। 2009 में शुरू किया गया, यह सूचकांक अब शेयर बाजार में भारी कारोबार कर रहा है, जिसमें बहुत सारे व्यापारी विशेष रूप से बैंक निफ्टी में विशेषज्ञता रखते हैं।

पिछले कुछ वर्षों में, बैंक निफ्टी विकल्पों के व्यापार पर ध्यान केंद्रित करने वाले कई व्यापारियों ने बैंक विकल्प व्यापार रणनीतियों की एक बड़ी संख्या तैयार की है और बाजार अब बैंक निफ्टी में व्यापार करने के तरीके पर बैंक निफ्टी टिप्स और ट्यूटोरियल से भरा हुआ है।

bank nifty option strategy in hindi

bank nifty option strategy in Hindi

1. bank nifty option strategy #1

यह बैंक निफ्टी विकल्प रणनीति केवल इंट्राडे ट्रेडिंग पर लागू होती है।

सबसे पहले, अपने चार्टिंग सॉफ़्टवेयर में 5 मिनट का कैंडल चार्ट करें। इसके बाद आपको उस बिंदु को चुनना होगा जिस पर आप अपनी रणनीति शुरू करेंगे। आपको या तो एक ऐसा बिंदु चुनना होगा, जिसमें पहली दो Candle या तो तेजी या दोनों मंदी की हों।

यदि आपकी पहली दो मोमबत्तियां तेज हैं, तो आपको दूसरी मोमबत्ती के शीर्ष पर खरीद आदेश देना होगा। एक बार यह ट्रिगर हो जाने पर, स्टॉप लॉस ऑर्डर उसी Candle के निचले हिस्से पर सेट किया जाना चाहिए। वैकल्पिक रूप से, यदि दो मोमबत्तियां मंदी की स्थिति में हैं, तो आप इसके ठीक विपरीत करते हैं और Candle के निचले हिस्से में अपना खरीद आदेश Candle की Thigh पर एक खरीद आदेश के रूप में रखे गए स्टॉप लॉस ऑर्डर के साथ रखते हैं।

2. bank nifty option strategy in Hindi #2

यह रणनीति दो भागों में विभाजित है। ट्रेड बेचें और ट्रेड खरीदें।

a. Sell trade

यदि बाजार अंतराल पर खुलता है (अंतिम दिनों से कम कीमत पर कूद), तो आपको उस अंतर को भरने के लिए चार्ट की प्रतीक्षा करनी चाहिए। जब एक मोमबत्ती इस अंतर को भरती है, तो आप उस बिंदु पर एक बिक्री आदेश देते हैं। विश्लेषण और प्रवृत्ति अध्ययनों का अनुमान है कि इस बिंदु से कीमत गिरने की संभावना है। इसलिए बिक्री आदेश आपको कीमत में इस गिरावट से बचाता है।

b. Buy Trade

यह बैंक निफ्टी ऑप्शन ट्रेडिंग रणनीति तब तैयार की जाती है जब बाजार एक अंतराल पर खुलता है। जब आप देखते हैं कि बाजार एक अंतराल पर खुल रहा है, तो आप एक बार फिर उस अंतर को भरने के लिए एक मोमबत्ती की प्रतीक्षा करते हैं और फिर उस बिंदु पर एक खरीद आदेश देने के लिए आगे बढ़ते हैं।

Conclusion bank nifty option strategy in Hindi

बैंक निफ्टी उन निवेशकों के लिए एक आकर्षक स्क्रिप्ट है जो जल्दी लाभ कमाना चाहते हैं, हालांकि इसकी अस्थिरता जोखिम के प्रति सावधानी बरतती है। बैंक निफ्टी का भुगतान कैसे करें, इस पर व्यापक शोध और सिद्धांत मौजूद हैं, हालांकि ये टिप्स और रणनीति ट्रेडिंग की दुनिया में प्रवेश करने के लिए आसान शुरुआती बिंदु हैं।

बैंक निफ्टी विकल्पों का व्यापार कैसे करें और सही बैंक निफ्टी टिप्स और बैंक निफ्टी ट्रेडिंग रणनीति का उपयोग करने के लिए कई विकल्प हैं, आप धीरे-धीरे बेहतर हो सकते हैं और अधिक सफल ट्रेड कर सकते हैं।

About Adam stiffman
Thank you for visiting our website this website will give all information about technology and all our readers can learn about programming languages in Hindi.

भाजपा सांसद का बाबा रामदेव पर हमला

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कैसरगंज से भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह (Brij Bhushan Sharan Singh) ने योग गुरु स्वामी रामदेव पर पतंजलि ब्रांड (Patanjali brand) के नाम से ‘नकली घी’ (fake ghee) बेचने का आरोप लगाया है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि रामदेव गलत तरीके से ‘कपालभाति’ पढ़ा रहे हैं, जिससे उनके उपदेशों का पालन करने वालों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है।

बृजभूषण शरण सिंह ने लोगों को बाजार से घी खरीदने के बजाय घर में गाय या भैंस रखने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि कमजोर का बच्चा कमजोर पैदा होता है। स्वस्थ व्यक्ति का बच्चा स्वस्थ पैदा होता है। स्वस्थ रहने के लिए घरों में साफ-सफाई और शुद्ध दूध और घी का होना बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा, मैं जल्द ही संतों की एक बैठक बुलाऊंगा और उनसे महर्षि पतंजलि के नाम का शोषण बंद करने का आग्रह करूंगा। मैं यह सुनिश्चित करूंगा कि रामदेव के समर्थकों द्वारा बनाए और बेचे जा रहे नकली दूध उत्पादों के खिलाफ मेरे आंदोलन को संत अपना आशीर्वाद दें। उन्होंने आगे कहा कि नकली घी पर उनके बयान पर रामदेव ने उन्हें लीगल नोटिस भेजा था और माफी मांगने को कहा था। उन्होंने कहा, मैं कभी माफी नहीं मांगूंगा और मैंने जो कहा है उस पर कायम हूं। (आईएएनएस)

रेटिंग: 4.35
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 561
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *