सर्वश्रेष्ठ CFD ब्रोकर्स

शेयर बाजार में पैसे कैसे लगाएं

शेयर बाजार में पैसे कैसे लगाएं

Share market me paisa kaise lagaye | नये लोग शेयर बाजार में पैसा कैसे लगाएं |

Share market me paisa kaise lagaye : दोस्तों यदि आप भी अपने पैसे को सही तरीके से निवेश करने की सोच रहें हैं तो यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी हो सकता है.

इस लेख में मैं आपको निवेश करने के सबसे अच्छा तरीका Share Market in Hindi या Stock Market in Hindi में पैसा कैसे लगाये के बारे में पूरी जानकारी देने वाला हूँ.

क्योंकि दोस्तों Share Bajar में पैसे लगाना हर कोई चाहता है लेकिन सही जानकरी या निवेश से डर लगने के कारण पीछे रह जाते हैं तो आज आपके वो सारे डर को भी इस लेख में कवर किया शेयर बाजार में पैसे कैसे लगाएं जायेगा.

Note :- यहाँ दी गयी जानकारी सिर्फ Education के लिए होगी यदि इसे पढने के बाद आपको निवेश में कोई नुकसान होता है तो उसके लिए आप खुद जिम्मेदार होंगे.

तो दोस्तों यदि आप जानना चाहते हैं की Share market me paisa kaise lagaye या Stock market शेयर बाजार में पैसे कैसे लगाएं me paisa kaise lagaye तो इस पोस्ट को पूरा पढ़ें.

चलिए शुरू करते हैं - Share market Kya Hai | Share market me paisa kaise lagaye in Hindi | शेयर बाजार में पैसा कैसे लगाएं? | हाउ तो इन्वेस्ट इन शेयर मार्केट | How To Invest In Share Market in Hindi

शेयर बाजार क्या है ?| Share Bajar Kya Hai | What is Share Bazar in Hindi ?

शेयर बाजार का सीधा अर्थ होता है " हिस्सा बाजार ". अर्थात् यहाँ पर जो भी कंपनियां Listed होती है उसका हिस्सा या Share खरीदा या बेचा जाता है.

Share market me paisa kaise lagaye

Share Bajar में बहुत से कंपनियां Listed होती है यदि आप किसी कंपनी के शेयर को खरीदते हैं तो आप उस कंपनी शेयर बाजार में पैसे कैसे लगाएं के उतने शेयर के मालिक बन जाते हैं और यदि आगे उस कंपनी को लाभ होता है तो आपको भी लाभ होगा , यदि नुकसान होता है तो वो भी आपको भी होगा.

कहने का मतलब है की किसी कंपनी के शेयर को यदि आप खरीद लेते हैं तो उसके सुख और दुख यानि "लाभ और हानि " दोनों में आप उसके साथी बन जाते हैं .

यदि आप शेयर बाजार की पूरी Details जानकारी लेना चाहते हैं तो ये आर्टिकल आपकी मदद करेंगे -शेयर बाजार क्या है? पूरी जानकारी हिंदी में.

अब हम जानते हैं की शेयर बाजार में निवेश कैसे करें | Share Bajar Me Nivesh Kaise Karen | How To Invest In Share Market ?

शेयर बाजार में निवेश कैसे करें | Share Bajar Me Nivesh Kaise Karen ?

शेयर बाजार में निवेश करना जितना आसान है उससे ज्यादा कठिन भी है लेकिन असंभव नहीं है . आसान इसलिए है की आप घर बैठे ही अपने Mobile या Laptop से अपना Share खरीद सकते हैं.

और कठिन इसलिए है शेयर बाजार में पैसे कैसे लगाएं की हम अपने पैसे को कहीं भी आँख बंद करके तो नहीं लगायेंगे इसके लिए हमें बहुत शेयर बाजार में पैसे कैसे लगाएं से बातों का ध्यान रखना होगा. जैसे - कंपनियां कैसी है , कंपनी का परफॉरमेंस कैसा है , कंपनी को सभी तरीके से Analyze करना आदि |

Demat Account Open करने के बाद आपको अपने Broker के App या Website में अपने Id , Password के साथ Login करना होगा , ये काम आप Mobile या Laptop दोनों से कर सकते हैं।

Login करने के बाद आप उसमें जितने चाहे उतने पैसे डाल कर अपने लिए शेयर खरीद कर निवेश की शुरुआत कर सकते हैं।

Stock Broker Kya Hai | स्टॉक ब्रोकर क्या है ?

कोई भी व्यक्ति Share Bajar में Direct निवेश नहीं कर सकता है। इसके लिए हमें Broker या दलाल की आवश्यकता होती है।

  • Full Service Broker फुल सर्विस ब्रोकर
  • Discount Broker डिस्काउंट ब्रोकर

Share Bazar में निवेश करने के लिए जरूरी चीजें

  • Share बाजार में निवेश करने के लिए सबसे पहले आपको पैसे की आवश्यकता होती है।
  • एक लैपटॉप या Mobile की आवश्यकता होती है।
  • Demat and Treding account
  • समय
  • समझ
  • Internet

निष्कर्ष :- Share Market में पैसा कैसे लगाये | Share Bazar me nivesh kaise karen

तो दोस्तों आज के इस पोस्ट में मैंने Share Market me paisa kaise lagaye | शेयर बाजार में पैसा कैसे लगाएं ? के बारे में बताने की कोशिश की है . जिसमें मैंने अपने 5 साल के शेयर बाजार के अनुभव से आपको कुछ जानकारियां दी है.

उम्मीद है की आपको पसंद आई होगी है और यदि आप ऐसी जानकारी पसंद करते हैं तो हमें सब्सक्राइब जरुर करें HindiTech24.com.

पर्सनल फाइनेंस: आप शेयर बाजार में रिटेल और नए निवेशक हैं तो आपको यस बैंक जैसे स्टॉक को जरूर समझना चाहिए, जानिए आपका पैसा कैसे खत्म हुआ

यस बैंक के हाल में आए एफपीओ में भी निवेशकों की दिलचस्पी नहीं रही। यह एफपीओ महज 95प्रतिशत ही भर पाया था - Dainik Bhaskar

आप अगर बाजार में रिटेल निवेशक हैं। आपने हाल में या पहले से भी निवेश किया है तो आपको यस बैंक जैसे शेयरों को जरूर जानना चाहिए। एक ऐसा बैंक जो देश में निजी क्षेत्र में चौथा बड़ा बैंक था। कभी 400 रुपए इसका शेयर हुआ करता था। लेकिन महज एक दो साल में इस शेयर ने निवेशकों की सारी कमाई गंवा दी। बीच-बीच में मौका मिला तो निवेशकों की लालच बढ़ी और इसी लालच में जो भी मिला वो भी गंवा दिए।

किसी शेयर में कैसे नफा और नुकसान का आंकलन करें?

शेयर बाजार में विश्लेषकों की एक बहुत प्रसिद्ध राय है। राय यह कि आप उन कंपनियों में निवेश करें जिनका मैनेजमेंट, बैलेंसशीट और गवर्नेंस अच्छा हो। साथ ही आप लालच मत करें। यानी आपको एक औसत रिटर्न मिला तो आपको निकल जाना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि आप जितना ज्यादा रिटर्न की उम्मीद करेंगे, उतना ही उसमें जोखिम भी होगा। लेकिन देखा ऐसा जाता है कि शेयर बाजार में पैसे कैसे लगाएं ज्यादातर निवेशक लालच में फंस जाते हैं। आज अगर कोई शेयर 10 रुपए पर है तो वे उसे 12 रुपए पर देखते हैं।

साथ ही वे निवेश तब करते हैं जब शेयर काफी महंगे स्तर पर पहुंच जाते हैं। या फिर रातों रात दोगुना की लालच में सस्ते 5-10 रुपए वाले शेयरों पर दांव लगाते हैं। जैसा कि हाल में देखा गया है। नए और रिटेल निवेशकों ने इन्हीं स्टॉक पर दांव लगाए हैं।

यस बैंक का शेयर कैसा रहा?

यह शेयर एक महीने पहले 28 रुपए पर था और आज 11.10 रुपए पर है। इसने पिछले हफ्ते एफपीओ के जरिए करीबन 13,000 करोड़ रुपए जुटाए। एफपीओ का मूल्य 12 से 13 रुपए था। अब यह शेयर उससे नीचे है। यानी जिन लोगों ने एफपीओ में खरीदा, वो भी नुकसान में हैं। जिन्होंने उससे पहले जब भी खरीदा होगा वो भी नुकसान में हैं। तो फायदा किसे हुआ? यह भी जानिए।

यस बैंक के एफपीओ में फायदा किसने कमाया

सबसे ज्यादा फायदा एसबीआई ने कमाया है। यह इसलिए क्योंकि जब यस बैंक का शेयर मार्च में टूटकर 5.55 रुपए के निचले स्तर पर पहुंचा तो एसबीआई के कंसोर्टियम में कई बैंकों ने इसमें पैसे लगाए। एसबीआई को सबसे ज्यादा 48 प्रतिशत से ज्यादा हिस्सेदारी मिली। साथ में एक्सिस, आईसीआईसीआई और अन्य बैंक भी थे। एफपीओ में एसबीआई ने अपनी होल्डिंग घटाकर 30 प्रतिशत कर दी। इसने मार्च में 10 रुपए प्रति शेयर पर 7,250 करोड़ रुपए लगाया था।

अब चार महीने बाद एसबीआई ने एफपीओ में 18 प्रतिशत से ज्यादा हिस्सेदारी 13 रुपए में शेयर बाजार में पैसे कैसे लगाएं बेच दी। यानी उसे चार महीने में 20-25 प्रतिशत का रिटर्न मिल गया। हालांकि इसके साथ ही अन्य बैंकों ने भी हिस्सेदारी बेची है।

यस बैंक में नुकसान किसे हुआ?

यस बैंक में मुख्य रूप से नुकसान रिटेल निवेशकों को हुआ है। बहुत सारे निवेशकों ने उस समय इसमें पैसे लगाए जब यह शेयर 400 रुपए या 300 रुपए तक था। वहां से जब शेयर टूटना शुरू हुआ तो काफी निवेशकों ने यह सोचकर निवेश किया कि अब आधा कीमत पर मिल रहा है और रिटर्न मिलेगा। इस तरह से निवेशक लगातार इसमें निवेश करते गए। यहां तक कि 30 रुपए,50 शेयर बाजार में पैसे कैसे लगाएं रुपए, 80 रुपए पर भी खरीदी होती गई। लेकिन बात तब पलटी, जब एसबीआई ने इसमें हिस्सेदारी शेयर बाजार में पैसे कैसे लगाएं खरीदी। यहां पर 5 रुपए का शेयर एक बार फिर 89 रुपए तक 10 दिन में पहुंचा। यहीं पर निवेशक फिर फंसे।

निवेशकों को लगा कि अब यह शेयर फिर से 200 जाएगा। लेकिन शेयर बाजार में पैसे कैसे लगाएं जिन लोगों ने शेयर को 5 से 89 तक पहुंचाया, वे तुरंत बेचकर निकल गए। शेयर फिर से आज उसी स्तर पर आ गया है।

शेयर में इतना उतार-चढ़ाव क्यों होते गया

यस बैंक को शुरू से ही पैसे की जरूरत थी ताकि वह आरबीआई के नियमों के मुताबिक काम कर सके। जब इसकी पैसे की जरूरत अब एफपीओ के जरिए पूरी हो गई तो फिर शेयर क्यों टूट रहा है? विश्लेषकों के मुताबिक इसमें सेबी को जांच करना चाहिए कि यह 5 रुपए का शेयर किस आधार पर 89 रुपए पर गया और फिर किस आधार पर 11 रुपए पर आ गया है। अगर एसबीआई के नाम पर यह 89 तक गया तो एसबीआई अब भी इसमें है। पर शेयर शेयर बाजार में पैसे कैसे लगाएं क्यों टूट रहा है?

सेबी का क्या नजरिया है

वैसे खबर है कि सेबी एफपीओ में कुछ ब्रोकरों की जांच कर रही है। कारण कि एफपीओ खुलने से पहले ही इसमें काफी शेयर बेचे गए थे। एक महीने पहले यह 28 रुपए पर शेयर था। 10 दिन पहले यह 18 रुपए पर था। आखिर क्यों यह शेयर एफपीओ के बाद भी टूटकर 11 रुपए पर आ गया।

सात कारोबारी दिन से लगातार टूट रहा है शेयर

यस बैंक के शेयरों में लगातार सातवें कारोबारी सत्र में गिरावट आई है। यस बैंक का शेयर गिरकर एफपीओ प्राइस से नीचे आ गया है। इसमें हर दिन लोअर सर्किट लग रहा है। इस साल अब तक यस बैंक के शेयर 76 फीसदी गिर चुके शेयर बाजार में पैसे कैसे लगाएं हैं। एफपीओ का फ्लोर प्राइस जारी होने के बाद यस बैंक के शेयर 56 फीसदी गिर चुके हैं।

जून तिमाही में महज 45 करोड़ का लाभ हुआ

बैंक को जून तिमाही में महज 45 करोड़ रुपए का लाभ हुआ है। एक साल पहले समान तिमाही में हुए 114 करोड़ रुपए के लाभ की तुलना में यह 60 प्रतिशत कम है। बैंक का ग्रॉस एनपीए इसी दौरान 16.8 से बढ़कर 17.3 प्रतिशत हो गया है। शुद्ध एनपीए 5.03 से घटकर 4.96 प्रतिशत रहा है। इनमें सॉल्वेंसू, कैपिटल एडेक्वेसी रेशियो और रेगुलेटरी जरूरतें भी शामिल हैं। इससे पहले गुरुवार को भी यस बैंक के शेयरों में 20 फीसदी का लोअर सर्किट लगा।

यस बैंक के एफपीओ के लिए जिन संस्थागत निवेशकों (क्यूआईबी) ने बोली लगाई थी उनमें एसबीआई, एलआईसी, आईआईएफएल, एचडीएफसी लाइफ, पंजाब नेशनल बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, एचडीएफसी म्यूचुअल फंड, यूनियन बैंक, बजाज होल्डिंग्स, एवेंडस वेल्थ मैनेजमेंट, इफ्फको टोकियो जनरल इंश्योरेंस आदि हैं।

रेटिंग: 4.93
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 540
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *